डॉ. जकेरिया संशोधन एवं विकास संस्था की स्थापना करें सरकार

  • कांग्रेस नेता डॉ. जफर खान की प्रदेशाध्यक्ष थोरात से मांग

औरंगाबाद. पिछले वर्ष संपन्न हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन ने जो शपथपत्र घोषित किया था. उस शपथपत्र में अल्पसंख्यक समुदाय के उन्नति के लिए जो मांगे पूरी करने का आश्वासन दिया गया था. उन्हें पूरा करने के साथ ही सारथी की तर्ज पर अल्पसंख्यक समाज के सामाजिक, आर्थिक और शैक्षणिक उन्नति के लिए डॉ. रफिक जकेरिया के नाम पर डॉ. जकेरिया संशोधन व विकास संस्था औरंगाबाद में शुरु करने की मांग अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के अल्पसंख्यक विभाग के राष्ट्रीय समन्वयक डॉ. जफर अहमद खान ने कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष बालाहासाहब थोरात से मुलाकात कर एक ज्ञापन देकर की.

ज्ञापन में इन मांगों का जिक्र

ज्ञापन में डॉ. जफर अहमद खान ने बताया कि  राज्य के मुस्लिम समाज को करीब 6 वर्ष पूर्व आरक्षण देने का निर्णय लिया गया था. उस पर अमलीजामा पहनाना, राजेन्द्र सच्चर कमेटी ने दी हुई सिफारिशों को तत्काल लागू करना, अल्पसंख्याक समाज के लडकों के लिए पिछड़ा  समाज के छात्रों की तरह हर जिले में छात्रावास शुरु करना, अल्पसंख्यकों के लिए कार्य करनेवाले सभी सरकारी और निम सरकारी संस्थाओं को एक खिड़की योजना के अंतर्गत लाना, अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय की शाखा औरंगाबाद में शुरु करना, महिला आयोग की तरह अल्पसंख्यक आयोग को वैधानिक अधिकार देना, अल्पसंख्यक बहुल इलाकों में सरकार द्वारा विशेष गृहनिर्माण योजनाओं पर अमलीजामा पहनाना, मनपा क्षेत्र में आनेवाले 500 फीट वाले घरों को संपत्ति कर से मुक्त करना आदि मांगे डॉ. जफर खान ने प्रदेशाध्यक्ष बालासाहब थोरात से चुनाव में कांग्रेस-एनसीपी द्वारा घोषित किए गए शपथ पत्रों की गई वादों को याद दिलाते हुए की.

प्रदेशाध्यक्ष ने दिया ज्ञापन

ज्ञापन स्वीकार ने के बाद कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष बालासाहब थोरात ने आश्वासन देते हुए बताया कि महाविकास आघाडी सरकार अल्पसंख्यक समुदाय में शामिल लोगों के सामाजिक और आर्थिक और शैक्षणिक उन्नति के लिए कटिबध्द है.