MNS workers cut off tap connection of municipal commissioner official bungalow

    औरंगाबाद. शहर को पेयजल आपूर्ति (Drinking Water Supply) करनेवाली जायकवाडी बांध में पानी का स्टॉक बड़े पैमाने पर होने के बावजूद औरंगाबाद (Aurangabad) वासियों को सप्ताह में एक बार पानी मिल रहा है। शहरवासियों को सप्ताह में दो दिन का गैप देकर पेयजल आपूर्ति करने का नियोजन करने की मांग बीते कई माह से मनसे पदाधिकारी (MNS Officials) प्रशासन (Administration) से कर रहे थे। उनकी मांग को दर किनार करने पर मनसे कार्यकर्ताओं ने रविवार की सुबह महानगरपालिका आयुक्त  (Municipal Corporation Commissioner)आस्तिक कुमार पांडेय (Astik Kumar Pandey) के सरकारी बंगले का नल कनेक्शन काट दिया। 

    यह खबर हवा की तरह सोशल मीडिया के माध्यम से शहरवासियों में पहुंचने के बाद प्रशासन में खलबली मची। मनसे के जिला संगठक बिपिन नाईक, वैभव मिटकर ने बताया कि मनसे द्वारा बीते कई माह से महानगरपालिका  प्रशासन को शहरवासियों को सप्ताह में दो से तीन बार पेयजल आपूर्ति करने का नियोजन करने की मांग की जा रही है। उन्होंने बताया कि प्रशासन के लापरवाही से शहर के आज कुछ इलाकों में 5 दिन और कुछ  इलाकों में 8 दिन गैप देकर पेयजल आपूर्ति जारी है।

    शहर को पेयजल आपूर्ति करनेवाले जायकवाडी बांध में पानी का स्टॉक बड़े पैमाने पर इसके बावजूद प्रशासन शहरवासियों को सप्ताह में दो से तीन बार पेयजल आपूर्ति करने का नियोजन नहीं कर पा रहा है। हमने एक पखवाड़ा पूर्व प्रशासन को हमारी मांग पर तत्काल पेयजल आपूर्ति का नियोजन करने की चेतावनी दी थी। इसके बावजूद प्रशासन द्वारा शहरवासियों को सप्ताह में दो से तीन बार पेयजल आपूर्ति करने का कोई नियोजन न किए जाने से आज हमने महानगरपालिका आयुक्त आस्तिक कुमार पांडेय के सरकारी बंगले का नल कनेक्शन तोड़ दिया। मनसे पदाधिकारियों द्वारा नल कनेक्शन कट करने की खबर सोशल मीडिया के माध्यम से फैलते ही महानगरपालिका अधिकारियों में खलबली मची।