स्नातक चुनाव के प्रचार पोस्टर से राहुल गांधी की फोटो गायब

  • राहुल गांधी को भूल रहे कांग्रेस और आघाडी के नेता

औरंगाबाद. कांग्रेस पार्टी की ओर से प्रधानमंत्री के रेस में बीते कुछ सालों से युवा नेता राहुल गांधी का नाम सबसे उपर है. गत 2 वर्ष में संपन्न हुए लोकसभा कई राज्यों के विधानसभा चुनावों में राहुल गांधी ने कांग्रेस पार्टी के अपनी सारी ताकद झकझोर दी. इसके बावजूद स्थानीय जिला कांग्रेस कमेटी के अलावा राज्य में सत्तासीन महाविकास आघाडी में शामिल सभी दलों के पदाधिकारी  राहुल गांधी को अपना नेता मानने से कन्नी काट रहे है. 

मराठवाडा स्नातक चुनाव के लिए जिला कांग्रेस कमेटी और महाविकास आघाडी की ओर से बनाए जा रहे चुनाव प्रचार पोस्टर और बैनरों में राहुल गांधी का फोटो डालना मुनासिब नहीं समझा. जिससे कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने कडी नाराजगी है. इन दिनों मराठवाड़ा में स्नातक चुनाव के लिए राजनीतिक सरगर्तियां तेज है. महाविकास आघाडी की ओर से इस निर्वाचन क्षेत्र में एनसीपी की ओर से 2 बार विधायक रहे सतीश चव्हाण को उम्मीदवारी दी गई.

कांग्रेसियों में नाराजगी

 चव्हाण के उम्मीदवारी के बाद महाविकास आघाडी में शामिल कांग्रेस, शिवसेना और एनसीपी के सभी नेता गन जोरदार प्रचार कर रहे है. प्रचार के दरमियान कांग्रेस जिला कमेटी और महाविकास आघाडी द्वारा प्रचार और सभाओं के आयोजन के लिए बनाए जा रहे बैनर और पोस्टर में कांग्रेस नेता राहुल गांधी की फोटो गायब कर दी गई. महाविकास आघाडी के पोस्टर पर सोनिया गांधी के साथ-साथ राहुल गांधी का फोटो होना चाहिए थी.यह बात कई कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने कहीं. कांग्रेस जिला कमेटी के साथ-साथ आघाडी के नेताओं ने भी  राहुल गांधी का फोटो  छापना मुनासिब नहीं समझा. जिससे कांग्रेसियों में नाराजगी फैली है. कांग्रेस के कई कार्यकताओं ने चुनाव प्रचार में राहुल गांधी का फोटो न छापने को लेकर दैनिक नवभारत से बातचीत करते हुए कड़ी नाराजगी जताई है.