स्मार्ट सिटीजन साकार करेंगे स्मार्ट सिटी का सपना

औरंगाबाद. शहर के नागरिकों को स्मार्ट सिटीजन बनाने के लिए मनपा ने पहल की है। शहर के निवासियों को स्मार्ट सिटीजन बना कर उन्हें प्रशिक्षित कर बैच दिया जाएगा। भारत में पहली बार औरंगाबाद मनपा ने यह मेगा स्मार्ट सिटीजन मुहिम अपने हाथ में ली है। इस मुहिम को अमलीजामा पहनाने के लिए मनपा, एमजीएम हॉस्पिटल तथा औरंगाबाद फर्स्ट टीम की मदद ली जाएगी। यह जानकारी मनपा प्रशासक तथा औरंगाबाद स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट कार्पोरेशन लि. के  सीईओ आस्तिककुमार पांडेय ने दी।

उन्होंने बताया कि स्मार्ट सिटी प्रकल्प सिर्फ नागरिकों को मूलभूत विकास तक सीमित नहीं है। नागरिकों को उनकी सामाजिक जिम्मेदारी तथा कर्तव्य का एहसास कराए बिना शहर की पहचान स्मार्ट नहीं हो सकती। शहर के विकास में नागरिकों को साथ लिए बिना विविध विकासात्मक प्रकल्पों को महत्व प्राप्त नहीं होता। यह बात जानकर नागरिकों को स्मार्ट करने के लिए उन्हें प्रशिक्षित करने  महानगर पालिका ने मेगा मुहिम हाथ में ली है। नागरिकों को स्मार्ट करने के लिए मनपा, एमजीएम हॉस्पिटल तथा औरंगाबाद फर्स्ट के सहकार्य के साथ ही औरंगाबाद के उद्योजक, स्वयंसेवी संस्था, नागरिक, शैक्षणिक संस्थाओं की मदद ली जाएगी। यह  जानकारी मनपा प्रशासक आस्तिककुमार पांडेय ने दी।

डॉ. प्रवीण सूर्यवंशी ने दिया प्रस्तुतीकरण

इस मुहिम के अंतर्गत एमजीएम मेडिकल कॉलेज के उपाधिष्ठाता डॉ. प्रवीण सूर्यंवशी ने रविवार शाम इस मुहिम पर अमलीजामा पहनाने के लिए किए जाने वाले उपाय योजनाओं की जानकारी पॉवर पॉइंट प्रेजेंटेशन द्वारा दी। सार्वजनिक स्थानों पर कचरा डालना, पार्किंग की अनुशासन न होना, यातायात तथा पानी का अधिक इस्तेमाल करना जैसे नागरिकों के गैर जिम्मेदाराना बर्ताव का मानव स्वास्थ्य पर, माहौल पर नकारात्मक परिणाम होता है। जिससे जरूरी खर्च बढ़ता। इस  पर उपाय के रूप में नागरिकों ने जिम्मेदारी स्वीकारना जरूरी है। स्मार्ट सिटीजन मुहिम के अंतर्गत व्याख्यान माला, ऑडियो तथा वीडियो शो, पथनाटय के माध्यम से नागरिकों को उनके जिम्मेदारी से अवगत कराना होगा। यह बात डॉ. सूर्यंवशी ने पॉवर प्रेझेंटेशन के माध्यम से दी।

मनपा प्रशासक पांडेय रहेंगे कोर कमेटी के अध्यक्ष

मनपा प्रशासक आस्तिककुमार पांडेय इस मुहिम पर अमलीजामा पहनाने के लिए गठित कोर कमेटी के प्रमुख रहेंगे। कोर कमेटी में मनपा शहर अभियंता सखाराम पानझडे, उपायुक्त अपर्णा थेटे, एएससीडीसीएल के अतिरिक्त सीईओ पुष्कम शिवम, एमजीएम के उपाधिष्ठता डॉ. प्रवीण सूर्यवंशी, एमजीएम विश्वविद्यालय के कुलसचिव आशिष गाडेकर, औरंगाबाद फर्स्ट के अध्यक्ष प्रीतीश चटर्जी, उद्योजक मानसिंग पवार, रणजीत कक्कड शामिल हैं।