bhandara hospital fire today

  • गुरुवार को मिली हाईप्रोफाइल दौरे से राहत
  • भंडारा का श्रृंखला अनशन 

भंडारा. जिला अस्पताल के शिशु केयर युनीट अग्निकांड ने पूरे देश में भंडारा जिले को शर्मसार कर दिया. घटना की भयावहता इतनी बडी थी कि मुख्यमंत्री से लेकर राज्यपाल ने अपनी संवेदनशीलता का परिचय देते हुए भंडारा पहुंचे एवं पीड़ित माताओं का सांत्वना दी. हाइ प्रोफाईल व्यक्तियों के आमगन का सिलसिला गुरुवार को थमा.

यद्यपि जिले में चर्चा है कि केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी भी जिले में आ सकते है. इस बीच सभी को इंतजार है कि जांच रिपोर्ट जारी की जाती है.  वहीं न्यायीय जांच की मांग पर पडी भाजपा की ओर से 15 जनवरी से जिलाधिकारी कार्यालय के सामने श्रृंखला अनशन आंदोलन प्रारंभ किया जाएगा.

भाजपा ने भंडारा जिला अस्पताल के शिशु केयर युनीट अग्निकांड में 10 अबोध शिशुओं की मृत्यु का निषेध करते हुए 15 जनवरी से 25 जनवरी के दौरान जिलाधिकारी कार्यालय के सामने धरना प्रदर्शन आयोजित किया है.

श्रृंखला अनशन के पहले दिन सांसद सुनील मेंढे स्वयं बैठने वाले है. आंदोलन में सभी तहसीलों के प्रमुख पदाधिकारी एवं कार्यकर्ताओं को भंडारा पहुंचकर आंदोलन में इकट्ठा होने के लिए कहा गया है. आंदोलन में जिला एवं शहर इकाई क पदाधिकारी, कार्यकर्ता, नगरसेवक, नगरसेविका, शक्ति केंद्र प्रमुख, बूथ प्रमुख तथा सभी कार्यकर्ता भी शामिल होंगे.

ऐतिहासिक रहेगी जांच रिपोर्ट

घटना के दूसरे दिन स्थानीय पुलिस लगभग निष्कर्ष पर पहुंच चुकी थी एवं जांच रिपोर्ट सौंपने की तैयारी हो गयी थी. लेकिन जैसे जैसे जांच समिति का दायरा बढता गया. जांच रिपोर्ट में सभी देखे, अनदेखे पहलुओं का भी समावेश किया गया. सूत्रों के माने तो जांच रिपोर्ट ऐतिहासिक साबित होगी.

जांच रिपोर्ट के निष्कर्ष के आधार पर भविष्य में शिशु केयर युनीट समेत पूरे अस्पतालों में आपातकालीन व्यवस्था की ख़ामियों को उजागर किया जाएगा. जिससे के लिए भविष्य में घटना की पुनरावृत्ति को टालने के लिए महत्वपूर्ण सुझाव देने की क्षमता इस रिपोर्ट में होगी.

आ सकते है गडकरी

सूत्रों की माने तो भंडारा जिले से विशेष लगाव रहनेवाले केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी यह जिला अस्पताल का दौरा करने के लिए पहुंच सकते है.