CORONA

    तुमसर. वर्तमान में कोरोना मामलों में काफी बढ़ोतरी हो रही है. शहर व ग्रामीण परिसर में विवाह एवं अन्य कार्यक्रमों के दौरान भारी भीड़ देखी जा रही है. वही शहर के बाजार परिसर में भी कोरोना की ओर अनदेखी कर भीड़ जमा की जा रही है. कोरोना को हल्के में लिया गया तो ग्रामीण व शहरवासियों को भारी पड़ सकता है. अब भी कोरोना महामारी से भंडारा जिला  भी अछूता नहीं है. जिले में कोरोना महामारी से संक्रमितों के मामले बढ़ने का सिलसिला लगातार जारी है. यह सब कुछ लोगों द्वारा सरकार की गाइड-लाइन की सरेआम धज्जियां उड़ाने के कारण हो रहा है. वर्तमान में जिले की तुमसर, साकोली, मोहाडी, पवनी, भंडारा एवं लाखनी सभी तहसीलों में कोरोना संक्रमितों संख्या में वृध्दि हो रही है.

    गाइड लाइन का नहीं हो रहे पालन

    साथ ही कोरोना महामारी के कारण जिले में  मृत्यु होना अब भी जारी है. अनलाक शुरु हुआ तो प्रशासन द्वारा गाइड लाइन को सख्ती से लागू नहीं करवा पाने के कारण प्रकरणों में वृद्धि देखने को मिल रही है. जिला प्रशासन द्वारा अनलाक की जो गाइड़ लाइन जारी की गई हैं, उसका सभी दूकानदारों एवं ग्राहकों को भी पालन करने के लिए कहा गया है, लेकिन यह सब कुछ कागजों तक ही सीमित दिखाई दे रहा है, क्योंकि अनलाक होने के बाद गांवों से लोग बाजार पहुंच रहे हैं. जिससे बाजार में काफी भीड़ देखने को मिल रही है. जहां तक कोरोना महामारी के दिशा-निर्देशों की बात है तो कुछ लोग इसका पालन कर रहे हैं तो कहीं पर इसका पालन नही के बराबर हो रहा है. बाजार परिसर में सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाकर बगैर  मास्क पहने सब कार्य किए जा रहे है. जबकि प्रशासन को इस सबकी जानकारी होने के बावजूद भी इस ओर कोई ठोस कदम नहीं उठाए जा रहे है. 

    प्रशासन की ओर से बरती जा रही ढिलाई

    नियमों का उल्लघंन करने वालों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हो रही है. जिससे उनके हौंसले बुलंद हो रहे हैं. शहरवासियों  ने इस तरह की स्थिति पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि, यदि इसी तरह से सरकार की गाइडलाइन की धज्जियां उड़ाने का सिलसिला जारी रहा तो आने वाले दिनों में कोरोना महामारी के प्रकरणों में काफी बढ़ोतरी देखने को मिल सकती है. इन दिनों ग्रामीण क्षेत्रों में आयोजित कार्यक्रमो में आगामी जिप व पसं चुनाव को लेकर ग्रामीण पदाधिकारियों द्वारा कोरोना को लेकर मार्गदर्शन अथवा सलाह नहीं दी जा रही है.