File Photo
File Photo

अंबाडी (सं). कोरोना महामारी के बीच वापसी की बरसात के कारण किसानों को परेशानियों में और वृद्धि हुई है. चांदोरी- कोकणनागड शिंगोरी परिसर में जंगली सुअरों ने आतंक मचा रखा है.  ये जंगली सुअर खेतों में घुसकर फसलों को नुकसान पहुंचा रहे हैं. जंगली सुअर किसानों के लिए साक्षात् यमराज की भूमिका निभा रहे हैं.

जंगली सुअरों से कैसे निपटा जाए, इसे लेकर किसान बहुत परेशान हैं. वन विभाग इन सुअरों को उचित बंदोबस्त करे, ऐसी मांग परिसर के किसानों की ओर की जा रही है. धारगांव परिसर में चंदोरी-कोकणागड, मालीपार, शिंगोरी, डब्बा, गराडा, कवलेवाडा, चित्तापुर, गुंथारा, वाघबोड़ी, राजेगांव, खुटसावरी, खुर्शिपार, माडगी, टेकेसार, पिंपलगांव जैसे स्थानों पर जंगली सुअरों के आतंक से किसान बहुत परेशान हैं.

दिन तो क्या रात में भी इस जंगली सुअरों का आतंक बना रहता है. ये जंगली सुअर किसानों की नज़रें चुराकर खेतों में प्रवेश करते हैं और फसलों को बर्बाद कर देते हैं. किसानों को सदैव इस बात की चिंता सताती रहती है कि ये जंगली सुअर कब खेत में घुसकर फसलों को नुकसान पहुंचा दें. किसानों ने वन विभाग के अधिकारियों से अपील की है कि वे तत्काल इस समस्या की समाधान करें.