जल किल्लत की समस्या हल करे अन्यथा आंदोलन

खामगांव. सरकार ने जिले में अकाल घोषित किया है. साथ ही खामगांव शहर व तहसील में पीने के पानी की समस्या से नागरिकों को जूझना पड़ रहा है. जल किल्लत के चलते नागरिको में रोष व्यक्त किए जाने से कानून व

खामगांव. सरकार ने जिले में अकाल घोषित किया है. साथ ही खामगांव शहर व तहसील में पीने के पानी की समस्या से नागरिकों को जूझना पड़ रहा है. जल किल्लत के चलते नागरिको में रोष व्यक्त किए जाने से कानून व सुव्यवस्था का सवाल खड़ा हो सकता है. ऐसे में नगर परिषद की ओर से पानी की समस्या हल करने के लिए उपाय योजना करें अन्यथा आंदोलन छेड़ने की चेतावनी कांग्रेस पार्षदों ने जिलाधिकारी को निवेदन व्दारा दी है.

चुनाव का बहिष्कार करने की दी चेतावनी
निवेदन में कहा है कि, नप की ओर से विकास कार्य किए जा रहे हैं. किंâतु जल किल्लत के समय में लोगों को पैसे देकर भी पानी मिलना मुश्किल है. जिससे कई प्रभाग की महिला व नागरिक नप में मोर्चा ले जाकर अधिकारियों से जवाब तलब कर रही हैं. पानी नहीं मिलने पर लोकसभा चुनाव पर बहिष्कार करने की चेतावनी भी नागरिकों व्दारा दी जा रही है.

20 दिन बाद 3 घंटे मिलता है पानी
शहर के कुछ प्रभाग में पुरानी पाइपलाइन व्दारा तो कुछ प्रभाग में नए व पुराने पाइपलाइनव्दारा जल आपूर्ति की जा रही है. वह भी २० दिनों के अंतर से. जल आपूर्ति के दौरान कही २ – 3 घंटे पानी देकर मनमानी की जा रही है. शहर में कही जगह पर अवैध नल कनेक्शन दिए गए हैं. इस बारे में भी जांच कर कार्रवाई करने की मांग निवेदन में की गयी है.

इस निवेदन पर नप कांग्रेस गुटनेता अर्चना टाले, पार्षद प्रवीण कदम, राणा अमेय सानंदा, अ. रशीद अ. लतीफ, शेख फारुक बिसमिल्ला, भूषण शिंदे, अलकादेवी सानंदा, संगीता पाटिल, शीतल मालवंदे, शेख रेहानाबानो, सरस्वती खास ने के हस्ताक्षर है.