Ratan Tata advocates ban on online hate, intimidation

नई दिल्ली. जानेमाने उद्योगपति रतन टाटा ने रविवार को ऑनलाइन घृणा और धमकाने को रोकने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि इसके बजाय एक दूसरे का समर्थन करना चाहिये क्योंकि यह सभी के लिये ‘चुनौतियों से भरा साल’ है। टाटा ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म इंस्टाग्राम पर एक पोस्ट में कहा कि ऑनलाइन समुदाय एक-दूसरे के लिये हानिकारक हो रहे हैं और एक-दूसरे को नीचे ला रहे हैं। टाटा समूह के चेयरमैन एमेरिटस ने कहा, “यह वर्ष किसी न किसी स्तर पर सभी के लिये चुनौतियों से भरा है। मैं ऑनलाइन समुदाय को एक-दूसरे के लिये हानिकारक होते हुए देख रहा हूं। लोग त्वरित राय बनाकर एक-दूसरे को नीचा दिखा रहा हैं।”

उन्होंने कहा, “मेरा मानना है कि यह वर्ष विशेष रूप से हम सभी के लिये एकजुट और मददगार होने का आह्वान करता है और यह एक-दूसरे को नीचे गिराने का समय नहीं है।” एक-दूसरे के प्रति अधिक संवेदनशीलता का आग्रह करते हुए उन्होंने अधिक दयालुता, अधिक समझ और धैर्य की आवश्यकता को दोहराया। टाटा ने कहा कि उनकी ऑनलाइन उपस्थिति सीमित है, लेकिन मुझे वास्तव में उम्मीद है कि यह सदाशयता के स्थान के तौर पर विकसित होगा और नफरत व बदमाशी के बजाय यहां हर किसी का समर्थन किया जायेगा।(एजेंसी)