GDP

    मुंबई. भारतीय स्टेट बैंक (State Bank Of India) की शोध रिपोर्ट ईकोरैप के अनुसार वित्त वर्ष 2021-22 में देश के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में 9.5 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि होने की संभावना है। राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (NSO) द्वारा मंगलवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक, चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में अर्थव्यवस्था 8.4 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की।

    चालू वित्त वर्ष की अप्रैल-जून तिमाही में यह 20.1 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की थी। अक्टूबर की मौद्रिक नीति समीक्षा में, भारतीय रिजर्व बैंक ने 2021-22 में वास्तविक जीडीपी वृद्धि के अपने अनुमान को 9.5 प्रतिशत पर बरकरार रखा था, जिसमें दूसरी तिमाही में 7.9 प्रतिशत, तीसरी तिमाही में 6.8 प्रतिशत और चौथी तिमाही में 6.1 प्रतिशत की वृद्धि का अनुमान शामिल था।

    शोध रिपोर्ट में कहा गया, “हमारा मानना है कि वास्तविक जीडीपी वृद्धि अब रिजर्व बैंक के 9.5 प्रतिशत के अनुमान से ज्यादा होगी और ऐसा तीसरी और चौथी तिमाही के लिए रिजर्व बैंक का अनुमान बिल्कुल सही मानते हुए है।” इसमें कहा गया कि वास्तविक जीडीपी वृद्धि 10 प्रतिशत के करीब हो सकती है।