The Chief Minister's Office gave the answer regarding the rate of petrol in Mumbai, told the Prime Minister's statement to be false
File Pic

नई दिल्ली. सरकारी पेट्रोलियम वितरक कंपनियों ने शनिवार को डीजल और पेट्रोल के दाम में क्रमश: 61 पैसे और 51 पैसे प्रति लीटर की वृद्धि की। इस बढोतरी के साथ डीजल का मूल्य दिल्ली में 77.67 रुपये के अब तक के सबसे ऊंचे स्तर पर पहुंच गया है। कंपनियों की मूल्य संबंधी अधिसूचना के अनुसार लगातार 14वें दिन इस बढोतरी से राजधनी में पेट्रोल की दर प्रति लीटर 78.88 रुपये पर पहुंच गयी है।

इस दौरान डीजल और पेट्रोल में कुल मिला कर प्रति लीटर क्रमश: 8.28 रुपये और 7.62 रुपये की वृद्धि हुई है। इन ईंधनों के दाम पूरे देश में बढ़ाए गए हैं। पेट्रोलियम पर राज्य स्तरीय करों (वैट) की दरों में विभिन्नताओं के चलते इनके भावों में बढ़ोतरी कुछ अलग अलग हो सकती है। गत सात जून से पहले 82 दिन तक कंपनियों ने इनके मूल्यों में कोई संशोधन नहीं किया था।

दिल्ली में इन चौदह दिनों की मूल्य वृद्धि से पहले डीजल की सबसे ऊंची दर 16 अक्टूबर 2018 को थी। उस समय इसका भाव प्रति लीटर 75.69 रुपये था। इसी तरह चार अक्टूबर 2018 को यहां पेट्रोल 84 रुपये पर था जो इसकी अब तक की उच्चतम दर है। गौरतलब है कि 14 मार्च को सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क प्रति लीटर तीन-तीन रुपये बढ़ाए थे। इसके बाद फिर पांच मई को पेट्रोल पर शुल्क 10 रुपये तथा डीजल पर 13 रुपये और बढ़ा दिया गया था।(एजेंसी)