Birthday Special amitabh bachchan did Tinnu Anand film for friendship

बॉलीवुड की फिल्मों में विलेन के किरदार में नज़र आने वाले एक्टर टीनू आनंद (Tinnu Anand) आज अपना 75 वां जन्मदिन मना रहे हैं।

मुंबई. बॉलीवुड की फिल्मों में विलेन के किरदार में नज़र आने वाले एक्टर टीनू आनंद (Tinnu Anand) आज अपना 75 वां जन्मदिन मना रहे हैं। टीनू (Tinnu Anand) को फिल्म इंडस्ट्री में वीरेंदर राज आनंद के नाम से भी जाना जाता है। टीनू (Tinnu Anand) ने अपने फ़िल्मी करियर में केवल एक्टिंग ही नहीं बल्कि कई फ़िल्मो का निर्देशन भी किया हैं। इनमें से ज़्यादा फ़िल्मे तो बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन की रह चुकी हैं।  जिनमें कालिया, शहंशाह, मै आजाद हूं, मेजर साब जैसी फ़िल्में शामिल हैं।

टीनू आनंद (Tinnu Anand) का जन्म 12 अक्टूबर 1945 को पेशावर पाकिस्तान में हुआ था। टीनू आनंद लेखक इंदर राज आनंद के बेटे हैं। टीनू के पिता हिंदी सिनेमा के लोकप्रिय लेखक थे।  हालांकि वह नहीं चाहते थे कि उनका बेटा इस इंडस्ट्री का हिस्सा बने।

टीनू (Tinnu Anand) ने एक इंटरव्यू में बताया था कि, जब मैंने अपने पिताजी से कहा कि, “मै फिल्म निर्देशन की दुनिया में जाना चाहता हूं, तब वह बेहद हताश हो गए। लेकिन,मुझे निर्देशन की दुनिया में ही अपना करियर बनाना था। आखिर में मेरे पिता ने मेरी ज़िद के सामने घुटने टेक दिए।  उन्होंने सत्यजीत रे के स्कूल में मेरा दाख़िला करा दिया। इसके बाद मैंने निर्देशन की दुनिया में कदम रखा। ” बतौर फिल्म निर्देशक टीनू (Tinnu Anand) ने कई फ़िल्मे निर्देशित की। जिनमें जीना तेरी गली मै, ये इश्क नहीं आसान, सीमाबद्ध ,कालिया आदि शामिल हैं।

टीनू (Tinnu Anand) को एक्टिंग करने का पहला मौका जलाल आघा से मिला। इस फिल्म में सारिका, नसीरुद्दीन शाह और अमोल पालेकर मुख्य भूमिका में थे।  फिल्म में टीनू का किरदार लोगों को बेहद पसंद आया। लोगों ने उनके एक्टिंग की काफी तारीफ की थी।  बतौर एक्टर टीनू (Tinnu Anand) ने अपने करियर में कई फ़िल्में की।  जिनमें पुष्पक, अग्निपथ, खिलाड़ी, चमत्कार, दिलजले, कभी ना कभी, सात रंग के सपने, अगली और पगली, दे दना दन, मासून, दामिनी, अंजाम जैसी फिल्मों का नाम शामिल हैं।  

टीनू (Tinnu Anand) और अमिताभ बच्चन का एक किस्सा काफी मशहूर हैं। दरअसल, टीनू आनंद अपनी फिल्म ‘कालिया’ की कहानी लेकर अमिताभ बच्चन के पास गए थे। उस समय अमिताभ बच्चन टॉप एक्टर में से एक थे।  वह काफी बीजी रहते थे।  इसलिए उन्होंने टीनू को टाइम देने से मना कर दिया। लेकिन, टीनू ने भी हार नहीं मानी। वह ज़िद पर अड़ गए थे कि उन्हें इस फिल्म में अमिताभ बच्चन को ही लेना हैं।  अमिताभ बच्चन और टीनू आनंद संघर्ष के दिनों के साथी थे।इसके बाद 6 महीने बाद टीनू अमिताभ बच्चन के पास अपनी फिल्म की कहानी लेकर गए।  तब बिग बी ने कहानी सुनने के लिए हाँ कहा था।  

15 मिनट तक कहानी सुनने के बाद टीनू (Tinnu Anand) ने सीधा बिग बी से कहा तो फिल्म की शूटिंग कब से शुरू करें। बिग बी को टीनू (Tinnu Anand) का कॉन्फिडेंस पसंद आया और उन्होंने इस फिल्म के लिए हामी भर दी। फिल्म ‘कालिया’ टीनू और बिग बी के करियर के लिए मील का पत्थर साबित हुई। इस फिल्म ने कई बड़े रिकॉर्ड अपने नाम किए।  हालांकि इस फिल्म की सक्सेस के बाद बिग बी ने टीनू से कहा कि सच कहूं तो मुझे तुम्हारी  फिल्म की कहानी बिल्कुल पसंद नहीं आई थी। मैंने बस तुम्हारी दोस्ती के वजह से इस फिल्म के लिए हामी भरी थी।