केंद्र सरकार की निति के खिलाफ इंटक व विदर्भ किसान मजदुर कांग्रेस का आंदोलन

  • पेट्रोल, डिजल मुल्यवृध्दी का किया निषेध

चंद्रपुर. केंद्र सरकार के कामगार विरोधी निति तथा पेट्रोल डिजल मुल्यवृध्दी के विरोध में शुक्रवार 3 जुलाई को राजीव गांधी कामगार भवन समक्ष महात्मा गांधी पुतले के पास कामगार नेता तथा पुर्व सांसद नरेश पुगलिया के नेतृत्व में राष्ट्रीय मजदुर कांग्रेस व विदर्भ किसान मजदुर कांग्रेस ने देशस्तरीय असकार व निषेध आंदोलन किया. आंदोलन के दोरान केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी की गयी. 

लाकडाऊन के दोरान असंघटीत कामगारों का सर्वाधिक नुकसान हुआ है. असंघटीत कामगारेां को सुरक्षा व स्वास्थ सुरक्षा तो दुरी की बात कई कामगारों को नोकरी से हाथ धोना पडा. ऐसी स्थिति में केंद्र सरकार कामगारेां के विरोध में नितियां बना रही है. पेट्रोल डिजल में लगातार मुल्यवृध्दी कर रही है जिसका मजदुर कांग्रेस ने विरोध किया. 

केंद्र सरकार व राज्य सरकार ने कामगार कानुन स्थगित करने, 8 घंटो का कामकाज करने, लाकडाऊन के समय का संपुर्ण वेतन अदा करने, लाकडाऊन में फसे कामगार व नागरिकों को गांव जाने की व्यवस्था करने, गरिब परिवार को 7500 रूपये प्रति माह की सहायता करने, जरूरतमंदों को राशन अनाज आपुर्ती करने, पेट्रोल व डिजल भाव कम करने आदि मांग की गयी. 

आंदोलन में  प्रदेश युवक कांग्रेस के महासचिव राहुल पुगलिया, इंटक जिलाध्यक्ष चंद्रशेखर पोडे, गजानन गावंडे, एड. अविनाश ठावरी, शिवचंद्र काले, पार्षद अशेाक नागपुर, देवेंद्र बेले, प्रशांत दानव, स्वप्निल तिवारी, वसंत मांढरे, तारसींग कलसी आदि उपस्थित थे.