अब सत्ताधारी पार्षद का मनपा के प्रसिध्दी टेंडर को विरोध

    • प्रसिध्दी नही, शहरवासियों को पानी देने की उठ रही मांग  

    चंद्रपुर. चंद्रपुर शहर महानगरपालिका ने मनपा की प्रसिध्दी के लिए नागपुर की एक कंपनी को वर्षभर का 24 लाख रूपए का टेंडर दिया है. परंतु अब मनपा के सत्ताधारी पार्टी के पार्षद ही इस टेंडर का विरोध जताते हुए सर्वप्रथम शहरवासीयों की जिवनावश्यक सुविधाओं को पूर्ण करने की अर्थात शहरवासियों को जलापूर्ति करने हेतु उपाययोजना करे उसके बाद प्रसिध्दी करे ऐसी मांग पार्षद कासनगोट्टुवार ने महापौर राखी कंचर्लावार को दिए पत्र में की है.

    पत्र में यह भी लिखा है कि, मनपा के अधिकारी व पार्षदों के विरोध की ओर नजरअंदाज कर महापौर कंचर्लावार ने नागपुर की एक कंपनी को मनपा के प्रसिध्दी का 24 लाख रूपए का टेंडर दिया है. इस कंत्राट को अबतक अधिकारीयों का विरोध है. मनपा की आर्थिक स्थिति बिकट है. कोरोना के चलते मनपा के कर्मीयों के वेतन कर पाना मुश्किल हो रहा है. ऐसे में प्रसिध्दी के लिए इतनी बडी राशी खर्च करने के लिए पार्षदों का विरोध है.

    इस टेंडर के लिए पहले मनपा विपक्षों का विरोध था. परंतु अब सत्ताधारी के पार्षदों का विरोध होने से महापौर को घर का आहेर दिए जैसा हुआ है. शहर में जलसंकट की समस्या निर्माण होने के बावजूद इसपर उपाययोजना करने के बजाय मनपा प्रसिध्दी पर खर्च कर रहा है ऐसा आरोप पार्षद सुभाष कासनगोट्टुवार ने किया है.