1 महीने बाद शुरू हुआ वैक्सीनेशन

    • वैक्सीन की कमी से हो रही परेशानी

    भद्रावती. तहसील के घोड़पेठ गांव में एक महीने बाद वैक्सीनेशन का डोज उपलब्ध हो सका है. प्राथमिक स्वास्थ्य स्वास्थ्य केंद्र पर डोज लेने वालों की भीड़ उमड़ रही है. तहसील में घोड़पेठ बड़ा गांव है. गांव में 1 महीने से वैक्सीन उपलब्ध नहीं थी. जिससे ग्रामीणों में रोष बढ़ रहा था. 1 महीने बाद वैक्सीन मिलने के बाद वैक्सीनेशन सेंटर में लोगों की भीड़ बढ़ गई. हालात यह थे कि कई लोग बिना वैक्सीन लिए ही घर लौट गए.

    खरीफ मौसम शुरू होने से परेशानी

    अभी फिलहाल खरीफ मौसम शुरू है. ऐसे में किसानों को खेतों में रहना जरूरी है. ऐसे में काम के समय को छोड़कर अपनी रोजी-मजदूरी डूबा कर लोग डोज लेने के लिए वैक्सीन सेंटर पर पहुंचे. लेकिन कम वैक्सीन रहने के कारण कई लोगों को वैक्सीन मिली ही नहीं ऐसे में वैक्सीन सेंटर पर आने वाले लोगों को इसकी पूर्व सूचना देना जरूरी है. जितने लोगों के लिए वैक्सीन उपलब्ध हो उतनी ही टोकन बांटकर बाकी लोगों को जिस दिन वैक्सीन उपलब्ध होगी, उस दिन का समय देना चाहिए. अन्यथा रोजी मजदूरी करने वाले किसान और मजदूरों को आर्थिक नुकसान हो रहा है. 

    लोगों को उचित जानकारी दें

    लोगों को टोकन उपलब्ध कराने से जिस दिन वैक्सीन उपलब्ध होगी, उस दिन लोग वैक्सीन लगाने के लिए आएंगे. कोरोना बीमारी के डर से ग्रामीण जनता भी जागृत हुई है. वैक्सीन लगाने के लिए लोग सेंटर पर आ रहे हैं. घोड़पेठ गांव के आसपास के परिसर के लोग भी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर वैक्सीन लगाने के लिए आते हैं. किंतु उन्हें भी खाली हाथ लौटना पड़ रहा है. इसलिए पर्याप्त वैक्सीन उपलब्ध कराने और लोगों को उचित जानकारी देने की मांग सामाजिक कार्यकर्ता अशोक यरगुड़े ने की है.