इस दिग्गज ने ठोकी थी टेस्ट क्रिकेट की सबसे तेज डबल सेंचुरी, 20 साल बाद इस खिलाड़ी ने तोड़ा उनका रिकॉर्ड

    -विनय कुमार

    टेस्ट क्रिकेट के 144 साल के इतिहास में यूं तो कई ऑल राउंडर आए और चले गए, लेकिन इयान बॉथम (Ian Botham) सर्वश्रेष्ठ ऑलराउंडर खिलाड़ियों में गिने जाते हैं। इयान बॉथम गजब के खिलाड़ी थे। विरोधी टीम के बल्लेबाज हों या गेंदबाज मैदानों पर इयान की मौजूदगी सभी को सकते में डाल देती थी। उनके अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर में उनकी सबसे बड़ी पारियों में से एक थी लंदन के केनिंग्टन ओवल (Kensington Oval) में भारत के खिलाफ खेले गए मैच में।

    आज से करीब 40 साल पहले 9 जुलाई, 1982 को 3 मैचों की द्विपक्षीय सीरीज के अंतिम टेस्ट मैच में इंग्लैंड और भारत एक बार फिर मैदान में उतरे। इस मैच में इंग्लैंड क्रिकेट टीम के कप्तान (Bob Willis) बॉब विलिस ने जीता और उन्होंने पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। पहली पारी में मीडिल ऑर्डर के स्टाइलिश बैट्समैन इयान बॉथम (Ian Botham) ने 208 रनों की जानदार पारी खेली।

    इस बेहतरीन पारी की खासियत यह रही कि उन्होंने सिर्फ़ 220 गेंदों में डबल सेंचुरी ठोक दी थी। उस दौर में सबसे कम गेंदों में बनाया गया दोहरा शतक था। बॉथम ने 208 रनों की उस यादगार पारी में 19 जानदार चौके और 4 शानदार छक्के भी लगाए थे।

    बॉथम की बेहतरीन पारी की बदौलत इंग्लैंड ने पहली पारी में 594 रनों का विराट स्कोर खड़ा कर दिया था। जिसके जवाब में  के विशाल भारतीय टीम ने 410 रन बनाए और इसमें  कपिल देव (Kapil Dev) ने 97 रनों की शानदार पारी खेली थी। क्रिकेट के इतिहास में उस दौर का यह एक हाई स्कोरिंग मैच था और बेशक इस मैच में बल्लेबाजों का जलवा खूब दिखा।

    इस मैच की तीसरी पारी में इंग्लैंड ने 191 रन बनाकर पारी घोषित कर दी थी, लेकिन इंग्लैंड के गेंदबाज भारतीय बल्लेबाजों को ऑल आउट करने में नाकाम रहे और मैच ड्रॉ हो गया। लेकिन, उस सीरीज में इंग्लैंड की 1-0 से जीत हुई थी। सीरीज के पहले मैच में इंग्लैंड ने भारत को 7 विकेट से हराया था।

    इयान बॉथम (Ian Botham) की सिर्फ 220 गेंदों में मारी गई डबल सेंचुरी का कीर्तिमान अगले 20 सालों तक कोई नहीं तोड़ पाया था। उनके इस रिकॉर्ड को ऑस्ट्रेलिया के महान विकेटकीपर-बल्लेबाज एडम गिलक्रिस्ट (Adam Gilchrist) ने साउथ अफ्रीका के खिलाफ (Australia vs South Africa Adam Gilchrist) 212 गेंदों में डबल सेंचुरी लगाकर इयान बॉथम का रिकॉर्ड तोड़ा था।