ind vs eng sunil-gavaskar-gave-advice-that-virat-kohli-should-open-with-rohit-sharma-in-t20-cricket

रोहित और विराट ने पहले विकेट के लिए 9 ओवर में 94 रन जोड़े थे।

    अहमदाबाद. भारत ने शनिवार को खेले गए मैच (India vs England 5th T20 Match) में इंग्लैंड को 36 रनों से हरा दिया। इस मैच में भारत की तरफ से रोहित शर्मा (Rohit Sharma) और कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ओपनिंग करने उतरे थे। दोनों खिलाड़ियों ने तूफानी बल्लेबाजी करते हुए इंग्लैंड के गेंदबाजों को मुश्किल में डाल दिया। रोहित और विराट ने पहले विकेट के लिए 9 ओवर में 94 रन जोड़े थे। इन दोनों की ओपनिंग जोड़ी को देखते हुए भारत के पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) ने भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) को सलाह दी है। 

    हाल ही में सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) ने भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) को सलाह दी है कि, वह आगे भी टी20 में रोहित शर्मा के साथ ओपनिंग करना जारी रखें। सुनील गावस्कर ने कहा, टीम के बेस्ट बल्लेबाज को लिमिटेड ओवर में सबसे ज्यादा बॉल खेलनी चाहिए। इस दौरान सुनील गावस्कर ने मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर का उदाहरण देते हुए कहा कि, उनके बैटिंग ऑर्डर में ऊपर आने से पूरी टीम के प्रदर्शन पर फर्क पड़ा था।

    सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar)  ने इंडिया टुडे के साथ बातचीत के दौरान कहा, ‘आपके बेस्ट बल्लेबाज को लिमिटेड ओवर में सबसे ज्यादा ओवर खेलने चाहिए। कप्तान विराट कोहली के लिए यह बेहद महत्वपूर्ण है कि वह टॉप ऑर्डर में खेलें। केएल राहुल (KL Rahul) का खराब फॉर्म टीम के लिए आपदा में अवसर की तरह है। बतौर ओपनर राहुल इस सीरीज में कुछ खास कमाल नहीं दिखा पाए। इस वजह से आखिरी टी20 में टीम को विराट कोहली और रोहित शर्मा के रूप में नया ओपनिंग कॉम्बिनेशन मिला, जिसे भविष्य में भी आजमाना चाहिए।’

    सुनील गावस्कर  (Sunil Gavaskar) ने आगे मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) का उदाहरण देते हुए कहा, ‘वह पहले वनडे में मध्यक्रम में खेलते थे।लेकिन, जब उन्हें ओपनिंग करने का मौका मिला तो उन्होंने टीम को कभी निराश नहीं किया। इससे उनकी बल्लेबाजी में काफी सुधार आया और पूरी टीम में जबर्दस्त परिवर्तन हुआ था। इससे ये साफ है कि आपके बेस्ट बल्लेबाज को ज्यादा से ज्यादा ओवर खेलने चाहिए, जितने वह खेल सके।’ 

    भारतीय टीम ने शानदार बल्लेबाजी करते हुए इंग्लैंड को 225 रनों का विशाल लक्ष्य दिया। इसके जवाब में इंग्लैंड की टीम 8 विकेट के नुकसान पर 188 रन ही बना सकी।