पंड्या और बुमराह ने भारत को तीसरे वनडे में दिलाई जीत

कैनबरा. हार्दिक पंड्या की एक और शानदार पारी के बाद लय में लौटे जसप्रीत बुमराह की उम्दा गेंदबाजी की मदद से भारत ने बुधवार को आस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरे और आखिरी एक दिवसीय क्रिकेट मैच में 13 रन से जीत दर्ज की हालांकि मेजबान टीम ने श्रृंखला 2 . 1 से अपनी झोली में डाली । पंड्या की 76 गेंद में 92 और जडेजा की 50 गेंद में 66 रन की नाबाद पारियों की मदद से भारत ने पांच विकेट पर 302 रन बनाये । कप्तान विराट कोहली ने भी 63 रन जोड़े ।

जवाब में आस्ट्रेलियाई टीम एक समय जीत की तरफ बढती नजर आ रही थी लेकिन 45वें ओवर में ग्लेन मैक्सवेल के आउट होने के बाद मैच उसकी जद से निकल गया । मेजबान टीम 49 . 3 ओवर में 289 रन ही बना सकी । आस्ट्रेलिया ने हालांकि सिडनी में खेले गए पहले दोनों मैच जीतकर श्रृंखला 2 . 1 से अपने नाम कर ली । भारत के लिये पहला मैच खेल रहे टी नटराजन ने दो और शारदुल ठाकुर ने तीन विकेट लिये लेकिन बुमराह ने मैक्सवेल का अहम विकेट लेकर भारत को मैच में लौटाया । उन्होंने 9 . 3 ओवर में 43 रन देकर दो विकेट लिये । मैक्सवेल ने 38 गेंद में 59 रन बनाये और वह आस्ट्रेलिया को क्लीन स्वीप की ओर ले जाते दिख रहे थे लेकिन बुमराह ने शानदार यार्कर पर उन्हें पवेलियन भेजा । इससे पहले भारतीय टीम में चार बदलाव किये गए थे और गेंदबाजी आक्रमण बदला हुआ था।

आईपीएल की खोज नटराजन ने अपने पहले ही स्पैल में मार्नस लाबुशेन (सात) को आउट किया । वहीं मोहम्मद शमी की जगह आये ठाकुर ने पिछले दोनों मैचों में शतक जमाने वाले स्टीव स्मिथ (सात) को विकेट के पीछे लपकवाया । मोइजेस हेनरिक्स (22) और कप्तान आरोन फिंच (75) ने 51 रन की साझेदारी की जिसे ठाकुर ने तोड़ा और हेनरिक्स को आउट किया । बीच के ओवरों में कुलदीप यादव ने किफायती गेंदबाजी की । उन्होंने पहला वनडे खेल रहे कैमरन ग्रीन (21) का विकेट भी लिया । मैक्सवेल और एलेक्स कारे ने इसके बाद डटकर खेला । ऐसा लग रहा था कि दोनों टीम को जीत तक ले जायेंगे लेकिन कारे अहम मौके पर रन आउट हो गए । इससे पहले भारत की शुरूआत खराब रही लेकिन पंड्या और जडेजा 32वें ओवर में साथ आये और छठे विकेट के लिये 150 रन की अटूट साझेदारी करके खेल की तस्वीर बदल दी । एक समय ऐसा लग रहा था कि भारतीय टीम 250 रन भी नहीं बना सकेगी लेकिन जडेजा और पंड्या ने भारत को 300 के पार पहुंचाया । दोनों ने क्रीज पर जमने में समय लिया लेकिन उसके बाद तेजी से रन बनाये । उन्होंने 46वें से 48वें ओवर के बीच 53 रन बनाये ।

आखिरी पांच ओवरों में 73 रन बने । पंड्या ने अपनी पारी में सात चौके और एक छक्का लगाया जबकि जडेजा ने पांच चौके और तीन छक्के जड़े । कोहली , पंड्या और जडेजा के अलावा भारत का कोई बल्लेबाज सपाट पिच पर खुलकर नहीं खेल सका । शिखर धवन (16) और केएल राहुल (पांच) जैसे सीनियर बल्लेबाज खराब शॉट खेलकर आउट हुए जबकि श्रेयस अय्यर भी 19 रन ही बना सके । मानुका ओवल की पिच बड़े स्कोर के लिये जानी जाती है लेकिन भारतीय शीर्षक्रम यहां लय हासिल नहीं कर सका ।

कोहली इस बीच सचिन तेंदुलकर का रिकार्ड तोड़कर सबसे तेजी से 12000 रन पूरे करने वाले बल्लेबाज बने । उन्होंने 78 गेंद में पांच चौकों की मदद से 63 रन बनाये । आस्ट्रेलिया के लिये एश्टोन एगर ने 44 रन देकर दो विकेट लिये । भारत की शुरूआत पिछले दो मैचों की तुलना में धीमी रही और पहले तीन ओवर में सिर्फ एक चौका लगा । इस दौरान सलामी बल्लेबाजों ने 12 डॉट गेंदें खेली । भारत को पांचवें ओवर में पहला झटका लगा जब सीन एबोट को बाहर निकलकर खेलने के प्रयास में धवन एगर को कैच देकर आउट हो गए । कोहली और गिल ने 56 रन जोड़े लेकिन गिल 16वें ओवर में एगर को स्वीप लगाने के प्रयास में पगबाधा आउट हो गए।उन्होंने 39 गेंद में तीन चौकों और एक छक्के के साथ 33 रन बनाये । अय्यर को मार्नस लाबुशेन ने आउट किया जबकि राहुल खराब स्वीप शॉट खेलकर एगर का दूसरा शिकार हुए । कोहली को 32वें ओवर में डीआरएस पर विकेट के पीछे कैच आउट दिया गया । (एजेंसी)