RAVI-SHAHSTRI

नयी दिल्ली. ‘बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफ़ी’ टेस्ट सीरीज 2020-21 में ऑस्ट्रेलिया को उसी की ज़मीन पर उसी के घर पर टेस्ट सीरीज में हराकर ऐतिहासिक जीत करने के बाद से ही टीम इंडिया के चीफ कोच रवि शास्त्री (Chief Coach Ravi Shastri) भी खबरों में छाए हुए हैं। 

इसमें कोई दो राय नहीं कि भारत को जीत दिलाने में रवि शास्त्री की भी अहम भूमिका रहे है। रवि शास्त्री के स्पष्ट निर्देशों और अनुभव ने हर युवा भारतीय खिलाड़ी की मदद की और यही कारण है कि टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज 2-1 से जीती और ये जीत मामूली जीत नहीं बल्कि ऐतिहासिक विजय है। अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane, Test Captain Australia vs India, 2020-21) की कप्तानी में इस शानदार जीत के बाद टीम इंडिया  ऑस्ट्रेलिया दौरे से स्वदेश लौट आई है। 

जिसके बाद टीम इंडिया के फील्डिंग कोच आर. श्रीधर (fielding coach R Sridhar) ने एक बड़ा खुलासा किया है। आर. श्रीधर ने अश्विन के यूट्यूब चैनल पर अपनी बातचीत में बताया कि रवि शास्त्री (Ravi Shastri) खिलाड़ियों के परिवार और उनके रिश्तेदारों के ऑस्ट्रेलिया दौरे जाने देने के अपने सुझाव पर बीसीसीआई से भिड़ गए थे और उन्होंने ऑस्ट्रेलिया नहीं जाने की धमकी तक दे दी थी।

आर. श्रीधर ने अश्विन से अपनी बातचीत में कहा, “जब हम लोग दुबई में क्वारंटीन थे तो ऑस्ट्रेलिया दौरे से 48 घंटे पहले पता चला कि परिवार को साथ ले जाने की इजाजत नहीं है। इन 48 घंटों में दुबई, भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच इन मुद्दों को लेकर बातचीत हुई। परिवार को साथ ले जाने की सहमति नहीं बन रही थी। 

बताया गया कि ऑस्ट्रेलियाई सरकार इसे लेकर सख्त है। टीम के 7 खिलाड़ी अपने परिवार के साथ थे। रवि शास्त्री ने इस बात पर अगुवाई की।  उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए एक बैठक की।  उन्होंने बीसीसीआई से साफ-साफ कह दिया था कि अगर परिवार को ले जाने की इजाजत नहीं मिली तो हम ऑस्ट्रेलिया दौरा नहीं करेंगे। आपको जो करना है कर लें।”

आर. श्रीधर ने आगे कहा, “शास्त्री ने कहा कि उनसे ज्यादा बेहतर तरीके से ऑस्ट्रेलिया को कोई नहीं जानता। मैं यहां पिछले 40 सालों से जा रहा हूं। उनके साथ कैसे पेश आना है ये मैं अच्छी तरह से जानता हूं। रवि शास्त्री का ये सख्त रवैया काम कर गया और आखिरकार टीम इंडिया के सदस्यों को अपने साथ दौरे में परिवार को साथ ले जाने की अनुमति मिल गई।

शास्त्री ने बनाई ऑस्ट्रेलिया बल्लेबाजों के ख़िलाफ़ रणनीति :

ग़ौरतलब है कि, कल शुक्रवार 22 जनवरी को ही टीम इंडिया के बोलिंग कोच (Balling Coach Bharat Arun) भरत अरुण ने भी भारतीय टीम के चीफ कोच रवि शास्त्री (Chief Coach Ravi Shastri) पर बड़ा खुलासा किया।

भरत अरुण ने बताया कि रवि शास्त्री ने ही ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाजों को लेग साइड में फंसाने की रणनीति बनाई थी। टीम इंडिया के गेंदबाजों ने ऑस्ट्रेलिया के धाकड़ बल्लेबाज स्टीव स्मिथ (Australian Cricketer Steve Smith) और मार्नस लाबुशेन (Marnus Labuschagne) को लगातार बॉडी और पैरों पर गेंदबाजी की थी, जिसके कारण उन्हें कई बार विकेट गंवाना पड़ा। रवि शास्त्री ने पिछले साल ही इस रणनीति पर काम करना शुरू कर दिया था, जिसपर भारतीय क्रिकेट टीम के नियमित कप्तान विराट कोहली (Team India Captain Virat Kohli) से भी चर्चा की गई थी। चीफ कोच रवि शास्त्री को इस तरह की गेंदबाजी की प्रेरणा न्यूजीलैंड से मिली थी। न्यूजीलैंड के घातक तेज गेंदबाज नील वैगनर (Neil Wagner Newzealand Cricketer) ने स्टीव स्मिथ (Steve Smith) की हालत खराब कर दी थी।

विनय कुमार