T20 वर्ल्ड कप में टीम इंडिया की कप्तानी को लेकर मचा बवाल, कौन करेगा कप्तानी ?

– विनय कुमार

टीम इंडिया का कप्तान कौन हो ? इस बात को लेकर बहस छिड़ चुकी है। आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप (ICC T20 WORLD CUP-2021) के आयोजन में अब एक साल भी नहीं बचा है, और ऐसे में इस सवाल के गरमाने को लेकर आश्चर्य भी नहीं होना चाहिए।  क्योंकि, अब ये बात छिड़ रही है कि सीमित ओवर के मैचों में किस खिलाड़ी में ज़्यादा स्पार्क है और कितनी काबिलियत है। चर्चा इस बात को लेकर हो रही है कि T20 वर्ल्ड कप में टीम इंडिया की कप्तानी कौन करे। क्रिकेट की दुनिया के ‘एंग्री यंग मैन’ विराट कोहली (VIRAT KOHLI) और रोहित शर्मा (ROHIT SHARMA) में से किसे टीम का नेतृत्व करना चाहिए। टीम इंडिया के विकेटकीपर-बल्लेबाज पार्थिव पटेल (PARTHIV PATEL) का मानना है कि क्रिकेट के सबसे छोटे फॉर्मेट T20 में रोहित शर्मा को टीम इंडिया की कप्तानी करनी चाहिए, क्योंकि वह शांत हैं और बड़े टूर्नामेंट जीतने के गुर वो भली-भांति जानते हैं वो।  

गौरतलब है की पार्थिव पटेल रोहित शर्मा (ROHIT SHARMA) और विराट कोहली (VIRAT KOHLI) दोनों की कप्तानी में खेल चुके हैं। 2015 से 2017 तक रोहित शर्मा की कप्तानी में आईपीएल (IPL T20) में मुंबई इंडियंस (MUMBAI INDIANS) के साथ रहे। और, 2018 से विराट कोहली की रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु (RCB) के साथ हैं। पार्थिव पटेल ने कहा, “रोहित शांत है और दबाव की स्थिति में संभलते हैं। मैंने दोनों की कप्तानी में खेला है और वह भी तीन साल तक।”

पार्थिव ‘क्रिकेट कनेक्टेड’ से बातचीत में रोहित शर्मा को लेकर कहा, “जिस तरह से रोहित शर्मा कप्तानी करते हैं, मुझे वह ज्यादा पसंद है, वह मैदान पर शांत हैं, दबाव में बेहतर फैसले लेते हैं और मेरे हिसाब से वह एक बेहतर कप्तान हैं।”

टीम को हैंडल करने का बेहतर अनुभव रोहित को

पार्थिव पटेल के मुताबिक रोहित शर्मा मैदान पर कड़े फैसले लेने में अधिक सक्षम हैं, जबकि विराट कोहली टीम की रणनीति तय करने के लिए अन्य खिलाड़ियों के इनपुट पर निर्भर करते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि मुंबई इंडियंस के कप्तान शर्मा क्रंच सिचुएशंस में अपने टेम्परामेंट  को बनाए रखता है और अधिक अनुभव के साथ समर्थित है। पटेल ने कहा, “मैंने रोहित शर्मा को क्रंची परिस्थितियों में अपने दम पर फैसले लेते देखा है जबकि विराट अन्य खिलाड़ियों पर बहुत अधिक निर्भर करते हैं, जब वह गंभीर परिस्थितियों में आते हैं। जब दबाव के खेल की बात आती है, तो रोहित शर्मा के पास टीम को संभालने का अधिक अनुभव है, जिस तरह से वह टीम के पक्ष में जाने वाले फैसले लेते हैं।”

पार्थिव पटेल ने बेहिचक कहा कि रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु (RCB) के कप्तान के खिलाफ कुछ भी नहीं है, लेकिन विराट कोहली, रोहित शर्मा जैसे टूर्नामेंट नहीं जीत सकते। उन्होंने 2017 चैंपियंस ट्रॉफी (CHAMPIONS TROPHY-2017) और 2019 विश्व कप (ONE DAY WORLD CUP-2019) का उदाहरण दिया और कहा कि विराट कोहली के नेतृत्व में टीम इंडिया (TEAM INDIA) ट्रॉफी जीतने में नाकाम रही। उन्होंने कहा कि हम यह नहीं कहते कि विराट कोहली कप्तान नहीं हैं, यहां बात यह है कि किस कप्तान ने ज्यादा टूर्नामेंट जीते हैं। टूर्नामेंट जीतने के लिए आपको यह जानना होगा कि आप उन टूर्नामेंट को कैसे जीतने जा रहे हैं। विराट क्रंच परिस्थितियों में नहीं जीत पाए, मसलन, 50 ओवर के वर्ल्ड कप (WORLD CUP) की बात करें या फिर चैंपियंस ट्रॉफी (CHAIMPIONS TROPHY) के फाइनल में टीम इंडिया के हश्र की तस्वीर सभी जानते हैं।