IPL 2020 It will be fantastic to see Dhoni playing again: Sehwag

    -विनय कुमार

    भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज ‘मुल्तान के सुल्तान’ वीरेंद्र सहवाग (Virendra Sehwag) और अब तक के इतिहास में टीम इंडिया के सबसे कामयाब कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni Former Captain Team India) के बीच तल्खियों की अफवाहें  कई बार सुर्खियों में रही हैं। कई बार खबरें भी देखी और सुनी गई कि, वीरेंद्र सहवाग ने अपने करियर को जल्द खत्म होने के लिए तब के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को जिम्मेदार ठहराया। मीडिया में कई बार सहवाग को 2007 के ‘ICC T20 WORLD CUP’ टीम की कप्तानी का प्रमुख दावेदार बताया गया। इन विवादों से भरी खबरों के बीच अक्सर यह सवाल भी उठता है कि अगर महेंद्र सिंह धोनी की बजाय टीम की कप्तानी किसी और खिलाड़ी के हाथों में होती या फिर वीरेंद्र सहवाग टीम की कमान संभाल रहे होते तो क्या होता ?

    इन विवादित सवालों के बीच भारतीय क्रिकेट  टीम के पूर्व कप्तान और महाविस्फोटक सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग (Virendra Sehwag) ने खुद जवाब देते हुए, कैप्टेन कूल महेंद्र सिंह धोनी और अपने बीच तमाम कड़वाहट भरी खबरें परोसने वालों को करारा जवाब दिया है। ‘Cricbuzz’ से अपनी ख़ास बातचीत में ‘नज़फ़गढ़ के नवाब’ वीरेंद्र सहवाग ने धोनी की कप्तानी की खूब तारीफ की और कहा कि अगर वो कप्तान नहीं होते, तो भारत और ‘चेन्नई सुपर किंग्स’ को कभी भी ऐसा बेहतरीन कप्तान नहीं मिल पाता। 

    2007 में सहवाग होते कप्तान तो ‘T20 WORLD CUP’ था मुश्किल

    वीरेंद्र सहवाग ने ‘Cricbuzz’ से आगे कहा, “महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) जैसा कप्तान भारत के इतिहास में दोबारा नहीं हो सकता। उनकी जगह 2007 के ‘ICC T20 World Cup’ कप की कप्तानी मेरे हाथों में होती तो शायद हम कभी भी खिताब नहीं जीत पाते।”

    सहवाग ने कहा, “किसी भी टीम के लिए माही (MS Dhoni) जैसा कप्तान मिल पाना मुश्किल है। उनके जैसा कप्तान न तो अब भारतीय टीम को दोबारा मिलेगा, और न ही आईपीएल में ‘चेन्नई सुपर किंग्स’ (IPL Chennai Super Kings CSK) को। अगर मैं 2007 ‘T20 विश्व कप’ के फाइनल में उनकी जगह कप्तान होता, तो शायद आखिरी ओवर अनुभव के आधार पर हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) को देता, लेकिन धोनी ने ऐसा नहीं किया। और कहते हैं, किस्मत भी बहादुरों का साथ देती है। और वही हुआ। लक ने धोनी (MS Dhoni) का साथ दिया और हम जीत गए।”

    धोनी के कारण साथ देती है किस्मत

    वीरेंद्र सहवाग ने एमएस धोनी को ‘लकी कप्तान’ (MS Dhoni Lucky Captain)  बताते हुए कहा कि जब वो मैदान पर उतरते हैं तो भाग्य भी उनके पक्ष में खेलता है। ऐसा इसलिए नहीं होता, क्योंकि वह लकी हैं, बल्कि वह ऐसे फैसले लेते हैं, जिससे लक उनके साथ हो जाता है।

    उन्होंने कहा, “धोनी (MS Dhoni) का लक उनका इसलिए ये साथ नहीं देता क्योंकि वह लकी हैं, बल्कि वह ऐसे फैसले लेते जिसमें लक उनका साथ देता है। उनकी कप्तानी (Captaincy) में गेंदबाज बेहतर करते हैं। ऐसा इसलिए नहीं कि वह बेहतर गेंदबाज बन जाते हैं, बल्कि विकेट के पीछे खड़े धोनी की मदद उन्हें बेहतर तरीके से अपना प्लान पूरा करने की आजादी देती है।”

    जबरदस्त वापसी करने में माहिर हैं MS Dhoni

    IPL TOURNAMENT के इतिहास में पिछले सीजन यानी IPL 2020 में बेहद निराशाजनक प्रदर्शन के बाद महेंद्र सिंह धोनी की कपनानी में आईपीएल की ‘येलो आर्मी’ ‘चेन्नई सुपर किंग्स’ (Chennai Super Kings CSK) ने ‘IPL 2021’ के ताज़ा सीजन में जबरदस्त वापसी की और अब तक खेले गए 7 मैचोंं में से 5 में शानदार जीत दर्ज कर प्वाइंट्स टेबल पर दूसरे नंबर पर विराजमान है। एक बात देखने वाली ये रही कि इस दौरान उन्होंने अपनी प्लेइंग इलेवन में बहुत ज्यादा बदलाव नहीं किए, लेकिन खिलाड़ियों का इस्तेमाल बेहतर तरीके से किया, जो उनकी खास कला है। जिससे उनकी टीम इस सीजन में जीत की राह पर जबरदस्त अंदाज में लौट आई।

    खेलप्रेमियों को ये तो पता होगा ही कि, महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) दुनिया के सबसे कामयाब कप्तानों में से एक हैं, जिन्होंने अपनी कप्तानी में ICC की तीनों ट्रॉफी, ‘ICC T20 WORLD CUP-2007,  ‘ICC ODI WORLD CUP-2011′ और ICC CHAMPIONS TROPHY- 2013’ में जीत हासिल करने का गौरव प्राप्त किया है। और IPL Tournament में ‘चेन्नई सुपर किंग्स’ के लिए 3 बार आईपीएल की ट्रॉफी जीती है। साथ ही उनकी कप्तानी में 2 बार ‘चैम्पियंस लीग’ में भी उनकी टीम के सिर पर जीत का सेहरा सजा है।