sunil-narayan

अबुधाबी.  कोलकाता नाइटराइडर्स (Kolkata Knight Riders) के कैरेबियाई स्पिनर सुनील नारायण (Sunil Narayan) की किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) मैच के दौरान संदिग्ध गेंदबाजी एक्शन के लिये रिपोर्ट की गयी और इस तरह के एक और मामले के बाद उन्हें इस टी20 टूर्नामेंट में गेंदबाजी करने से रोका जा सकता है। वेस्टइंडीज के इस 32 वर्षीय खिलाड़ी ने शनिवार को खेले गये मैच में चार ओवरों में दो विकेट लिये। केकेआर ने 165 रन का बचाव करते हुए दो रन से यह मैच जीता था।

आईपीएल के बयान के अनुसार, ‘‘मैंदानी अंपायरों ने आईपीएल की संदिग्ध गैरकानूनी गेंदबाजी कार्रवाई नीति के तहत रिपोर्ट की। नारायण को चेतावनी दी गयी है और उन्हें गेंदबाजी जारी रखने की अनुमति दी जाएगी।” इसमें कहा गया है, ‘‘एक अन्य रिपोर्ट के बाद नारायण को बीसीसीआई संदिग्ध गेंदबाजी कार्रवाई समिति से हरी झंडी मिलने तक आईपीएल 2020 में गेंदबाजी करने से रोक दिया जाएगा।” इससे पहले 2015 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने नारायण के एक्शन को अवैध करार दिया था और उन्हें अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में गेंदबाजी करने से रोक दिया गया था।

इसके बाद उन्होंने सुधारात्मक उपाय अपनाये और 2016 में उन्हें सभी प्रारूपों में गेंदबाजी करने की अनुमति मिल गयी थी। आईपीएल के एक सूत्र ने गोपनीयता की शर्त पर पीटीआई से कहा, ‘‘गेंदबाजी में सुधार करने के बाद उनकी गेंदबाजी की धार कुंद पड़ गयी थी। कौन जानता है कि पिछले दो मैचों में उन्होंने ऐसा किया हो। केकेआर ने आखिर में इन मैचों में जीत दर्ज की। अगर वह समझदार है तो आगे ऐसी गेंदों को नहीं करेगा। ” नारायण के एक्शन की 2018 में पाकिस्तान सुपर लीग के दौरान भी रिपोर्ट की गयी थी लेकिन आखिर में उन्हें गेंदबाजी की अनुमति मिल गयी थी। गेंदबाजी एक्शन संदिग्ध पाये जाने के बाद नारायण ने अपने बल्लेबाजी कौशल को निखारा था, लेकिन पिछले दो मैचों में उनकी गेंदबाजी का सामना करना भी मुश्किल रहा था।