कोरोना के चलते सामाजिक दूरी का पालन सुनिश्चित करने के मद्देनजर DMRC का बड़ा फैसला, दिल्ली में कई मेट्रो स्टेशन के प्रवेश द्वार बंद

    नयी दिल्ली: दिल्ली मेट्रो रेल निगम (डीएमआरसी) ने सामाजिक दूरी का पालन सुनिश्चित करने के लिए मंगलवार को कई मेट्रो स्टेशन के प्रवेश द्वारों को अस्थायी रूप से बंद कर दिया। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में कोविड​​-19 मामलों की बढ़ती संख्या से निपटने के लिए छह दिन के लॉकडाउन की घोषणा की है, क्योंकि शहर की स्वास्थ्य व्यवस्था पर दबाव बढ़ गया है। डीएमआरसी ने ट्वीट किया, “हमारे भीड़ नियंत्रण उपायों के तहत सामाजिक दूरी को सुनिश्चित करने के लिए झंडेवालान, आरके आश्रम मार्ग, कड़कड़डूमा, प्रीत विहार, निर्माण विहार, सुप्रीम कोर्ट, आनंद विहार, आईएसबीटी और वैशाली स्टेशन के प्रवेश द्वारों को अस्थायी रूप से बंद कर दिया गया है।”  

    डीएमआरसी ने यात्रियों को सूचित किया कि अस्थायी रूप से बंद सभी स्टेशनों से बाहर निकलने की अनुमति है। अस्थायी रूप से बंद अन्य स्टेशन शादीपुर, द्वारका मोड़, टैगोर गार्डन, राजौरी गार्डन, पटेल नगर, सुभाष नगर, कीर्ति नगर, राजेंद्र प्लेस, मोती नगर, बहादुरगढ़ सिटी, ब्रिगेडियर होशियार सिंह, श्याम पार्क, राज बाग और मोहन नगर हैं। डीएमआरसी के अनुसार, भीड़ नियंत्रण उपायों के तहत राजीव चौक, एमजी रोड, नयी दिल्ली और चांदनी चौक जैसे स्टेशन के लिए सीमित संख्या में लोगों के प्रवेश की अनुमति है।  

    कोरोना वायरस के मामलों में बढ़ोतरी के मद्देनजर दिल्ली में छह दिनों के लॉकडाउन के दौरान मेट्रो ट्रेनों के फेरे कम हो गए हैं। डीएमआरसी ने सोमवार को एक बयान में कहा था, “सुबह (सुबह आठ बजे से सुबह 10 बजे तक) और शाम को (शाम पांच बजे से शाम सात बजे तक) व्यस्त समय में पूरे नेटवर्क पर 30 मिनट के अंतराल पर सेवाएं उपलब्ध होंगी।”  

    उसने कहा था, “दिन के बाकी समय के लिए, नेटवर्क पर सेवाएं 60 मिनट के अंतराल पर उपलब्ध होंगी।” वैध पहचान पत्र दिखाने पर छूट प्राप्त लोग मेट्रो सेवाओं का लाभ उठा सकते हैं। (एजेंसी)