Laxmi Vilas Bank depositors' money fully secured: RBI appointed administrator

मुंबई. लक्ष्मी विलास बैंक के प्रशासक टी एन मनोहरन ने बुधवार को कहा कि बैंक के जमाकर्ताओं का पैसा पूरी तरह से सुरक्षित है। उन्होंने भरोसा जताया कि नियामक द्वारा तय समयसीमा के अंदर ही बैंक का विलय डीबीएस बैंक इंडिया के साथ हो जाएगा। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने मंगलवार को केनरा बैंक के पूर्व गैर-कार्यकारी चेयरमैन टी एन मनोहरन को लक्ष्मी विलास बैंक का प्रशासक नियुक्त किया। आरबीआई ने संकट में फंसे निजी क्षेत्र के बैंक के निदेशक मंडल को हटाने के बाद प्रशासक की नियुक्ति की।

बैंक पर लेन-देने को लेकर पाबंदी लगायी गयी है और प्रति खाता 25,000 रुपये की निकासी की सीमा तय की गयी है। मनोहरन ने संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि उन्हें भरोसा है कि लक्ष्मी विलास बैंक का डीबीएस बैंक इंडिया के साथ विलय 16 दिसंबर, 2020 से पहले हो जाएगा। प्रशासक ने कहा, ‘‘उनकी पहली प्राथमिकता जमाकर्ताओं को आश्वस्त करना है कि उनका पैसा पूरी तरह से सुरक्षित है और बैंक के पास जमाकर्ताओं का पैसा लौटाने को लेकर पर्याप्त नकदी है।”

लक्ष्मी विलास बैंक के पास 20,000 करोड़ रुपये जमा है जबकि उसने 17,000 करोड़ रुपये कर्ज दे रखा है। आरबीआई विलय को लेकर अंतिम मसौदा 20 नवंबर को जारी करेगा।(एजेंसी)