NEET

    नयी दिल्ली. चिकित्सा संस्थानों में प्रवेश के लिए नीट- स्नातक परीक्षा पहली बार 13 भाषाओं में आयोजित की जाएगी। केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने मंगलवार को यह जानकारी दी। पंजाबी और मलयाली को परीक्षा के माध्यम के रूप में जोड़ा गया है। मंत्री ने कहा कि पश्चिम एशिया में भारतीय छात्रों की सुविधा के लिए राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (नीट) का कुवैत में एक नया परीक्षा केंद्र खोला गया है।

    उन्होंने ट्वीट किया, “नीट-स्नातक 2021 के लिए पंजीकरण आज शाम पांच बजे से (वेबसाइट पर) शुरू हो गया है। नीट (स्नातक) परीक्षा के इतिहास में पहली बार पश्चिम एशिया के छात्रों की सुविधा के लिए कुवैत में एक परीक्षा केंद्र खोला गया है।”

    उन्होंने कहा, “नीट (स्नातक) 2021 परीक्षा पहली बार 13 भाषाओं में आयोजित की जाएगी और पंजाबी तथा मलयाली भाषा को (माध्यम के रूप में) जोड़ा गया है।”

    प्रधान ने कहा कि अब हिंदी, पंजाबी, असमी, बंगाली, ओड़िया, गुजराती, मराठी, तेलुगु, मलयालम, कन्नड़, तमिल, उर्दू और अंग्रेजी में परीक्षा आयोजित होगी। (एजेंसी)