Pramod sawant

पणजी. गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत (Chief Minister Pramod Sawant) ने कहा कि गोवा सरकार(Goa government) स्कूलों (School) को खोलने के बारे में फैसला शिक्षकों समेत सभी पक्षों के साथ विचार-विमर्श करने के बाद ही लेगी। शिक्षक संघ फिलहाल व्यक्तिगत उपस्थिति वाली कक्षाएं शुरू करने के पक्ष में नहीं हैं। उन्हें आशंका है कि स्कूलों में भौतिक दूरी कायम करना असंभव होगा।

सावंत ने पीटीआई-भाषा से कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच छात्रों की सुरक्षा सर्वोपरि है। मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने राज्य के शिक्षा सचिव और शिक्षा निदेशक से कहा है कि वे स्कूल प्रबंधन, अभिभावक-शिक्षक संघों और शिक्षक संस्थाओं जैसे कि ‘गोवा हेडमास्टर एसोसिएशन’ और ‘गोवा प्रिंसिपल्स फोरम’ समेत सभी पक्षकारों से बातचीत करें। उन्होंने कहा कि स्कूलों को फिर से खोलने के बारे में फैसला सभी पक्षों की सहमति के बाद और आवश्यक मानक संचालन प्रक्रियाओं का क्रियान्वयन करने के साथ ही लिया जाएगा।

‘अनलॉक-5′ के तहत राज्यों से 15 अक्टूबर से स्कूलों को खोलने के बारे में फैसला लेने को कहा गया है। सावंत ने कहा कि जब भी स्कूलों को फिर से खोलने के बारे में निर्णय होगा तब सरकार पहले दसवीं और बारहवीं कक्षा शुरू करने के बारे में विचार करेगी। सूत्रों ने बताया कि शिक्षा निदेशक संतोष अमोनकर के साथ बैठक में शिक्षक संघों ने स्कूल तत्काल खोले जाने का विरोध किया।(एजेंसी)