‘लक्ष्य’ फिल्म ने पूरे किए 17 साल, फरहान अख्तर बोले ‘मदद के लिए सेना का हमेशा शुक्रगुजार रहूंगा…’

निर्देशक ने फिल्म के दूसरे हिस्से के ज्यादातर दृश्यों की शूटिंग लद्दाख में की थी।

    ‘Lakshya’ film completes 17 years, Farhan Akhtar said ‘I will always be thankful to the army for the help…’: अभिनेता, फिल्मकार फरहान अख्तर ने शुक्रवार को अपनी फिल्म ‘लक्ष्य’ के 17 साल पूरे होने के मौके पर भारतीय सेना द्वारा निर्माण के दौरान की गई मदद के लिए शुक्रिया अदा किया। वर्ष 1999 के करगिल युद्ध की पृष्ठभूमि पर बनी फिल्म लक्ष्य का फरहान अख्तर ने निर्देशन किया था। फिल्म की कहानी एक लक्ष्यहीन युवा करण शेरगिल (ऋतिक रोशन अभिनीत किरदार) के इर्द गिर्द घूमती है जो भारतीय सेना का हिस्सा बनता है और युद्ध के मैदान में नायक बनकर उभरता है।

    निर्देशक (47) ने फिल्म के दूसरे हिस्से के ज्यादातर दृश्यों की शूटिंग लद्दाख में की थी। उन्होंने कहा कि यह फिल्म उनके लिए जीवन भर संजोने वाला अनुभव है। अख्तर ने लिखा, ‘‘ इस जीवन पर्यंत अनुभव में मदद के लिए भारतीय सेना व अतुलनीय योगदान देने वाले दृढनिश्चयी कलाकारों व कर्मियों का हमेशा शुक्रगुजार रहूंगा..। मैं इसे एक फिल्म नहीं कहूंगा क्योंकि यह हमेशा से ही मेरे लिए उससे कहीं अधिक रही है। लक्ष्य। 17 साल।’’

     
     
     
     
     
    View this post on Instagram
     
     
     
     
     
     
     
     
     
     
     

    A post shared by Farhan Akhtar (@faroutakhtar)

     

    2004 में आयी युद्ध आधारित फिल्म अभिनेता फिल्मकार की ‘दिल चाहता है’ के बाद उनके निर्देशन में बनी दूसरी फिल्म थी। ‘लक्ष्य’ में प्रीति जिंटा, अमिताभ बच्चन, ओम पुरी, अमरीश पुरी और रणवीर शौरी ने भी अभिनय किया है। फिल्म में पत्रकार की भूमिका निभाने वाली जिंटा ने कहा कि उन्हें इस फिल्म का हिस्सा बनकर गर्व महसूस होता है जो सेना के बलिदान की याद दिलाती है। (bhasha)