रोहिणी हट्टंगडी का खुलासा, बोलीं ‘समय के साथ खुद को बदलने और आगे बढ़ने की जरूरत…’

हट्टंगडी ने कहा, “मुझे नहीं लगता कि ओटीटी या वेब श्रृंखला में ऐसा डर होता है कि यह बॉक्स ऑफिस पर चलेगा कि नहीं।'

    Rohini Hattangadi revealed, said ‘Need to change with the times and move forward…’प्रख्यात अभिनेत्री रोहिणी हट्टंगडी गुजराती वेब श्रृंखला “षड्यंत्र” से ‘ओटीटी’ (इंटरनेट के जरिए सामग्री प्रसारित करने वाले) मंच पर पदार्पण कर रही हैं और इसके बारे में उनका मानना है कि उनके लिए सब कुछ समय के साथ खुद को बदलना और आगे बढ़ने जैसा है। उर्विश पारिख द्वारा निर्देशित राजनीतिक थ्रिलर की कहानी एक मुख्यमंत्री और उसके इर्द गिर्द चल रहे सत्ता के खेल को दिखाती है, जिसका किरदार “क्यूँकि सास भी कभी बहू थी” की में काम कर चुकी अदाकारा अपरा मेहता ने निभाया है। थियेटर, फिल्मों और टेलीविजन की जगत में सबसे सम्मानित शख्सियतों में शामिल 70 वर्षीय हट्टंगडी ने कहा कि नए माध्यम में उनकी उम्र के कलाकारों को बेहतर और विविध भूमिकाएं मिल रही हैं।

    उन्होंने पीटीआई-भाषा को दिए एक साक्षात्कार में कहा, “आपको हर समय सीखना पड़ता है, यह सिलिसला कभी नहीं रुकता। जैसे कि, ‘गांधी’ फिल्म से पहले मेरे घर में एक साधारण टेलीफोन भी नहीं था।” हट्टंगडी ने रिचर्ड एटेनबरो की फिल्म “गांधी” में कस्तूरबा का किरदार निभा कर वैश्विक स्तर पर प्रशंसा पाई थी। राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार और बाफ्टा से सम्मानित अभिनेत्री ने कहा, “… तब हमने एक टेलीफोन कनेक्शन लिया और फिर टीवी और मोबाइल फोन लिया। एक कलाकार के रूप में हमने रेडियो या थियेटर से शुरुआत की थी और टीवी फिल्म से होते हुए अब ओटीटी मंचों तक पहुंचे हैं, हमने यह बदलाव देखा है। इसलिए हमें सीखना और नई चीजों से साथ सामंजस्य बैठाना आना चाहिए, सब कुछ बेहद तेजी से बदल रहा है।

    अभिनय के क्षेत्र में ही, हम जीवनभर कुछ न कुछ सीखते रहते हैं।” हट्टंगडी ने “सारांश”, “अर्थ”, “अग्निपथ”, “दामिनी” और “मुन्नाभाई एमबीबीएस” में भी उल्लेखनीय अभिनय किया है। उन्होंने कहा कि सिनेमा और टेलीविजन में जहां स्थिरता है वहीं, डिजिटल माध्यम अपने आप में प्रयोगधर्मी मंच है। उन्होंने कहा, “फिल्मों में मेरे लिए हमेशा मां की भूमिका रही है। निर्माता हमेशा फिल्मों में सावधानी बरतते हैं क्योंकि उन्हें निवेश किये गए पैसों की चिंता होती है, इसलिए वे वही बनाते हैं जो सफल हो सके।”

    हट्टंगडी ने कहा, “मुझे नहीं लगता कि ओटीटी या वेब श्रृंखला में ऐसा डर होता है कि यह बॉक्स ऑफिस पर चलेगा कि नहीं। इसलिए वे प्रयोग कर पाते हैं।” “षड्यंत्र” में हट्टंगडी ने व्हील चेयर पर बैठी वसंती का किरदार निभाया है जो कि एक मीडिया घराने की मालिक है और मुख्यमंत्री पन्नाबेन पटेल (मेहता) की बहन है। उन्होंने कहा कि लेखक बाबुल भवसार के कारण वह इस श्रृंखला में काम करने को तैयार हुईं। (bhasha)