रतनजोत स्किन सीरम का उपयोग कर सर्दियों में त्वचा को रूखी होने से बचाएं

सर्दियों के मौसम में अक्सर लोगों के स्किन रूखी हो जाती है। इस मौसम में त्वचा फटने लगती है, साथ ही काफी डलनेस भी दिखने लगती है। हमारी त्वचा बेहद नाज़ुक होती है और सर्द हवाओं की वजह से हमारे स्किन से नमी खोने लगती है। इस दौरान हमें अपनी स्‍किन का खास ख्‍याल रखना चाहिए।

सर्दियों के मौसम में नहाने से पहले अपनी बॉडी पर तेल की मालिश करना चाहिए। साथ ही रात में सोने से पहले चेहरे पर एक हाइड्रेटिंग स्‍किन सीरम लगाकर कुछ देर मसाज करें। इसलिए आज हम आपको बता रहे हैं रतनजोत से बनने वाला स्‍किन सीरम की विधि। जो बदलते मौसम में स्‍किन के लिए काफी अच्‍छा होता है। तो आइए जानते हैं रतनजोत सीरम बनाने की विधि के बारे में…

रतनजोत सीरम बनाने की विधि-
रतनजोत सीरम बनाने के लिए हमे रतनजोत तेल – 2 चम्‍मच, बादाम का तेल – 1 छोटा चम्‍मच, ग्‍लिसरीन- 1/2 चम्‍मच, एलोवेरा जेल- 1 चम्‍मच और लेमन एसेंशियल ऑयल- 2-3 बूंद की ज़रूरत होती है। अब इस फेस सीरम को बनाने के लिए सबसे पहले एक कांच की कटोरी लें। उसमें इन सभी सामग्रियों को एक-एक कर के मिला दें। फिर इसे एक कांच की शीशी में भर लें। लीजिये तैयार है आपका सीरम, इसे रोज़ाना प्रयोग में लाए।    

क्या है रतनजोत ?
रतनजोत एक आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है, जिसे कई नामों से जाना जाता है जैस लालजड़ी और दामिनी बालछड। इसका उपयोग लगभग हर घर में किया जाता है। रतनजोत में एंटीबायोटिक, एंटी इन्फ्लेमेटरी, एंटी-बैक्टीरियल और ड्यूरेटिक (मूत्रवर्धक) गुण पाए जाते हैं। इसका उपयोग बालों को काला, स्‍किन एलर्जी, आंखों की रौशनी को बढ़ने आदि के लिए भी किया जाता है। 
रतनजोत जड़ी बूटी का इस्‍तेमाल बहुत से कॉस्‍मैटिक प्रोडक्‍ट्स को बनाने के लिए भी किया जाता है। इसका इस्तेमाल शरीर पर चिकन पॉक्‍स की वजह से पड़े गहरे दाग को भी यह हल्‍का करने के लिए किया जाता है।