Navratri Special: Must try cheese-potato curd-vada during fast

-सीमा कुमारी

नवरात्रि हिन्दुओं का  एक बहुत बड़ा त्योहार है, जिसे साल में दो बार बड़े ही उत्साह के साथ मनाया जाता है. भक्त इन दिनों देवी दुर्गा के नौ अवतारों की पूजा करते हैं. माना जाता है कि देवी दुर्गा के अलग-अलग अवतार हैं, और हर अवतार अलग शक्ति का प्रतीक है. नवरात्रि के दिनों को बहुत ही शुभ माना जाता है, और इस दौरान मां दुर्गा के भक्त पूजा करने के साथ उपवास भी करते हैं. अधिकांश लोग नवरात्रि  के दौरान तामसिक और नकारात्मक प्राणिक भोजन का सेवन नहीं करते हैं. जैसे मांसाहारी भोजन, मछली, लहसुन, प्याज इत्यादि भोजन छोड़ देते हैं. बदलते मौसम में हमारे शरीर की प्रतिरक्षा इम्यूनिटी कम होने लगती है, इसलिए ऐसी चीजों का सेवन करने से बचना चाहिए.

नवरात्रि में ऐसे तो ज्यादातर मीठे पकवान खाना ज्यादा पसंद किया जाता है. लेकिन आज हम आपको नवरात्रि में खाएं जाने वाले दही-वड़े बनाने की विधि बताएंगे. जो स्वस्थ के लिए काफी उत्तम होता है. इसे इस्तेमाल करने से आपको किसी प्रकार की शारीरिक हानि नहीं होगी साथ ही यह प्रोटीन की कमी को भी पूरा करता है. आलू में प्रोटीन , विटामिन सी , विटामिन बी , खनिज लवण और कार्बोहाईड्रेट पाये जाते हैं. इसका प्रोटीन अन्य अनाजों में पाये जाने वाले प्रोटीन की तुलना में अच्छी गुणवत्ता का और आसानी से पचने वाला है.

दही-वड़े बनाने की सामग्री:

  • आधा कप,पनीर
  •  एक कप सिंघाड़े का आटा
  • 1 कप उबले मैश आलू,
  • 1 चम्म्च अदरक पिसा हुआ,
  • 1 कटोरी,दरदरे पिसे काजू पाव
  • 1 बारीक कटी हरी मिर्च,
  • 2 कप फेंटा दही,
  • सेंधा नमक,स्वाद अनुसार
  • 2 चम्मच शक्कर,
  • 1  चम्मच जीरा पावडर
  • अनार दाने  
  • मूगफली, देसी घी या तिल का तेल 

विधि: सबसे पहले पनीर को कद्दूकस करके इसमें आलू, काजू, किशमिश, हरी मिर्च, अदरक व सेंधा नमक मिला लें. उसके छोटे-छोटे गोले बना लें. अब सिंघाड़े के आटे का घोल बनाएं. वड़े को इस घोल में डुबोकर गरमा-गरम तेल में सुनहरा होने तक तल लें. दही में शक्कर मिला लें. अब एक प्लेट में भल्ला परोस कर दही, जीरा पावडर व अनारदाने से सजाकर पेश करें.