मां-बेटी ने दी सुपारी, पुलिसकर्मी की हत्या का राज खुला, गंभीर साजिश का पर्दाफाश

    आलापल्ली. भामरागड़ तहसील के धोड़राज पुलिस मदद केंद्र में कार्यरत पुलिस हवालदार जगन्नाथ सिडाम (54) की 4 जुलाई को रात के दौरान नागेपल्ली में उनके निवासस्थान पर ही हत्या की गई थी. इस घटना से सर्वत्र खलबली मची थी. अहेरी पुलिस की जांच में इस हत्या की घटना पर से पर्दा उठ गया है. इस हत्या में पत्नी व पुत्री का सहभाग होने की जानकारी सामने आयी है. उन्होने ही सुपारी किलर द्वारा सिडाम की हत्या की साजिश को अंजाम दिया. ऐसी बात पुलिस जांच में उजागर हुई है. जिससे परिसर में खलबली मची है. 

    3 आरोपी गिरफ्तार

    पुलिस दल में कार्यरत जगन्नाथ सिडाम यह 4 जुलाई को नागेपल्ली में अपने निवासस्थान पर सोए हुए थे. इस दौरान हत्यारों ने उनके घर का दरवाजा खटखटाया. दरवाजा खोलने पर धारदार चाकू से गला रेतकर उनकी हत्या की थी. इस घटना के कारण सर्वत्र खलबली मची थी. उक्त हत्या किसने व क्यों की? इसको लेकर चर्चाओं का बाजार गर्म था. संपूर्ण तहसील वासियों का ध्यान इस हत्याकांड की जांच की ओर लगा था. हत्या मामले की जांच अहेरी के उपविभागीय पुलिस अधिकारी विशाल ठाकुर कर रहे हैं. इस दौरान अहेरी पुलिस ने जांच की गति बढ़ाते हुए इस हत्याकांड के राज पर से पर्दा उठाया है. इस मामले में पुलिस ने मृतक की पत्नी, पुत्री तथा अन्य 1 आरोपी को हिरासत में लिया होकर अधिक जांच शुरू होने की जानकारी है. इस मामले में और 2 आरोपियों का सहभाग होकर उनकी भी खोजबीन पुलिस कर रही है. ऐसी जानकारी उपविभागीय पुलिस अधिकारी विशाल ठाकुर ने दी है. 

    हत्या का रहस्य कायम !

    पुलिस हवालदार सिडाम की हत्या में मुख्य सूत्रधार उसकी पत्नी व पुत्री होने की बात स्पष्ट हुई है. उसकी पत्नी ने किस कारणवश पति के हत्या की साजिश रचकर हत्या की, इसे लेकर अधिकृत जानकारी पुलिस सुत्रों से प्राप्त नहीं हो पायी है. जिस कारण हत्या का रहस्य अब भी कायम है. इस मामले में पत्नी ललिता सिडाम, पुत्री रोहिणी सिडाम व सुपारी किलर गट्टा (जांभिया) निवासी इंद्रजीत खोब्रागडे इन तीनों आरोपियों को अहेरी पुलिस ने गिरफ्तार किया है. तीनों आरोपियों को न्यायालय में पेश करने पर 19 जुलाई तक पुलिस हिरासत में रखने के आदेश दिए हैं.