कोरोना को लेकर लोग हो रहे लापरवाह – उड़ रही निर्देशों की धज्जियां

सिरोंचा. कोरोना महामारी के मद्देनजर केंद्र एवं राज्य की सरकारें लोगों को संक्रमण से बचने के लिए मास्क एवं 2 गज की दूरी अनिवार्य किया है. जिसका प्रसार-प्रचार भी जोरों से किया जा रहा है. मगर सिरोंचा शहर में लोगों द्वारा निर्देशों का धज्जियां उड़ाई जा रही हैं. शहर के अलावा तहसील के विभिन्न क्षेत्रों से आने वाले लोग इन दोनों निर्देशों का कोई पालन नहीं कर रहे हैं. तहसील मुख्यालय होने के चलते क्षेत्रीय लोगों का सिरोंचा शहर में रोजाना आवागमन होता है. जिसके चलते शहर में सतर्कता बरतना जरूरी है. लोग कोरोना को लेकर गैरजिम्मेदार नजर आ रहे हैं.

संक्रमण के खतरे को दे रहे न्योंता
सिरोंचा शहर में इन दिनों महामारी के प्रकोप के चलते सार्वजनिक स्थलों, व्यवसायिक केंद्रों पर सरकार ने दिशा निर्देश जारी करते हुए उनका पालन करने का प्रावधान किया है. मगर शहर में इन दिनों निर्देशों का धज्जियां उड़ाई जा रही है. लोग लापरवाह होते हुए संक्रमण के खतरे को न्योंता देते दिखाई पड़ रहे हैं. शहर में पहुंचने वाले लोगों के अलावा ग्रामीण क्षेत्रों से आने वाले ग्रामीण भी लापरवाही का परिचय दे रहे हैं. इसके अलावा शहर में बीते कुछ दिनों से बिना मास्क के ही पैदल एवं वाहनों में घूमने वाले लोग बेपरवाह होकर बिना मास्क के ही घूमते नजर आ रहे हैं. सार्वजनिक स्थलों पर न मास्क पहना जा रहा है, न ही 2 गज की दूरी यानी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जा रहा है. 

स्थानीय प्रशासन नहीं दे रही ध्यान
जानकारी के मुताबिक सरकार के द्वारा दिए निर्देशों का पालन नहीं करने पर अर्थदंड का प्रावधान किया है. इसके तहत बिना मास्क के घूमने वालों पर 200 से 300 रुपये तक का अर्थदंड का प्रावधान है. मगर स्थानीय प्रशासन इस ओर ध्यान केंद्रित नहीं कर रही है. जिससे लोग भी बेपरवाह होते जा रहे हैं. स्थानीय प्रशासन इस ओर ध्यान केंद्रित कर ऐसे घूमने वालों पर कार्यवाही प्रारंभ करे. ताकि लोग इन निर्देशों का पालन करने बाध्य हो सके. शहर में मांग हो रही है कि स्थानीय प्रशासन सुनश्चिति करे कि इन स्थलों पर सैनिटाइजर की सुविधा उपलब्ध कराने हेतु आवश्यक उपाय करें. यह उपाय चाहे प्रशासकीय तौर पर हो या फिर उन स्थलों के व्यवस्थापकों के द्वारा हो.