Naxalites closed Dububaguda-Mallampodur road

  • मुरूमगांव, सावरगांव में विलय दिन का तीव्र विरोध

गडचिरोली. नक्सलियों ने 21 से 27 सितंबर के बीच में विलय दिवस सप्ताह का आहवान किया। किंतु धानोरा तहसील के मुरूमगांव, सावरगांव के नागरिकों ने नक्सलियों के बैनर की होली  जलाकर विलय दिवस का तीव्र विरोध किया।

नक्सलियों ने 21 सितंबर को उपविभाग धानोरा अंतर्गत आनेवाले मुरुमगांव से सावरगांव सड़क के किनारे में विलय दिवस सप्ताह का पालन करने का आवाहन करनेवाले बैनर लगाकर दहशत फैलाने का प्रयास किया था। किंतु उनका यह प्रयास मुरुमगांव व सावरगांव के नागरिकों ने नक्सलियों का बैनर निकालकर मुख्य चौक में बैनर को जला दिया। इस समय नागरिकों ने ‘वंदे मातरम’, ‘भारत माता की जय’, ‘लोकशाही जिंदाबाद’, ‘नक्सलवाद मुर्दाबाद’ की घोषणा दी। गडचिरोली पुलिस दल हमारे लिए हमेशा विभिन्न सरकारी योजनाओं की जानकारी देकर योजना का प्रत्यक्ष लाभ आदिवासियों को उपलब्ध कराने का प्रयास करती है।

इसके अलावा नक्सलवाद निरापराध नागरिकों का खून बहाकर समाज में दहशत फैलाने का प्रयास करते है। हम तक सरकार के योजनाओं की जानकारी न पहुंचे, इसके लिए सप्ताह के नाम पर सडक पर पेड गिराकर आम जनजीवन प्रभावित करने का प्रयास करते है। इन नक्सलियों का जाहीर निषेध करने के लिए हम गाववासियों ने एकजुट आकर विलय दिवस सप्ताह का विरोध कर नक्सलियों ने लगाए हुए बैनर की होली करने का नागरिकों ने इस समय स्पष्ट किया।

एसपी ने की सराहना 

लोकतंत्र विरोधी व संविधान न माननेवाले नक्सलवाद अलग अलग सप्ताह के नाम पर स्थानीय आदिवासियों में दहशत फैलाने का प्रयास करते है। किंतु सावरगांव व मुरुमगांव के नागरिकों ने पहल कर नक्सलियों के ‘विलय दिवस’ सप्ताह का विरोध करने के साथ ही नक्सल बैनर को जला दिया। नक्सलियों के खिलाफ एकजुट आनेवाले ग्रामीणों का पुलिस अधीक्षक शैलेश बलकवडे ने प्रशंसा की।