Schools will not start in September also, teacher friend campaign in Manpa and ZP

गोंदिया. विद्यार्थी व शिक्षकों की भावनाओं का सम्मान कर उनकी दिवाली की छुट्टी बढ़ाने की मांग का विचार कर शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड़ ने 7 से 20 नवंबर तक शालाओं का अवकाश घोषित किया है. इसके पूर्व 5 नवंबर के पत्रक में 12 से 16 नवंबर इस तरह केवल 5 दिन का अवकाश दिया गया था लेकिन अब इस आदेश में परिवर्तन कर 14 दिन का अवकाश दिया गया है. इस निर्णय का शिक्षक, पालक व विद्यार्थियों ने स्वागत किया है.

कोरोना संक्रमण की वजह से मार्च से ऑन लाइन कक्षाएं शुरु है. इसे ग्रीष्मऋतु व गणेशोत्सव की छुट्टी में भी शुरु रखा गया. जिससे दिवाली में बड़ी छुट्टी मिलेगी ऐसा अपेक्षा व्यक्त की गई थी. जबकि राज्य सरकार ने केवल 5 दिन ऑन लाइन कक्षा को छुट्टी दी. शालाओं को पूर्व में दिवाली की 21 दिनों तक छुट्टी रहती थी. इसके बाद वार्षिक छुट्टियां 80 की बजाए 76 कर दी गई.

दिवाली की छुट्टी 18 दिन की गई लेकिन कोरोना के कारण पढ़ाई विलंब से शुरु होने पर दिवाली छुट्टी केवल 5 दिन की गई. जिससे दिवाली की छुट्टी धीरे धीरे कम की जा रही है. ऐसा आरोप शिक्षक, विद्यार्थी व पालकों ने लगाया था.

इन छुट्टियों को लेकर शिक्षक भारती संगठन ने आक्रमक भूमिका अपनाकर राज्य शासन के पत्रक की होली जला दी. इसी तरह शिक्षा मंत्री गायकवाड़ के खिलाफ नाराजगी व्यक्त कर दिवाली छुट्टी बढ़ाने की मांग की जिसके बाद 14 दिन की छुट्टी बढ़ा दी गई है.