corona
File Photo

गोरेगांव. जिले में कोरोना संक्रमितों की संख्या दिनों दिन बढ़ रही है. जिससे तहसील में दहशत बढ़ने लगी है. जिसके चलते स्वास्थ्य केंद्रों में अपार भीड़ साफ दिखाई दे रही है. तहसील में अब तक बाहर से आने वाले व्यक्तियों की कोरोना जांच हो चुकी है. जिसमें ग्राम गनखेरा अंबेतलाव व गोरेगांव शहर से 3 कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति पाए गए थे. जिसमें रेड जोन में आने वाले क्षेत्र के व्यक्तियों को कई प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ा था.

पिछले महीने जिले में कोरोना संक्रमित व्यक्तियों के जल्द ठीक होने की खबरों से तहसील में स्थिति बदलने लगी थी. जिसके चलते लोग अपने घरों से बाहर निकल कर अपने कामकाज रोजगारी में लगे हैं. 1 जुलाई से जिला प्रशासन की ओर से शालाओं को खोलने की अनुमति भी दी गई, लेकिन प्रशासन को दोबारा शालाओं को लॉकडाउन करना पड़ा है.

मार्निंग वॉक पर रोक
इस बीच जिले में कोरोना के मरीजों की संख्या अचानक बढ़ोतरी तथा महामारी से व्यक्तियों की मृत्यु कि खबर ने तहसील की स्थिति को बदल दिया है. जिस कारण कोरोना के प्रति एक बार फिर डर का वातावरण बनता नजर आ रहा है. इस बीच सुरक्षा के मद्देनजर पुलिस प्रशासन द्वारा मॉर्निंग वॉक पर दोबारा रोक लगा दी गई है.

वैद्यकीय अधिकारी डॉ स्वप्निल चिन्नालोरे के अनुसार इन दिनों शहर के ग्रामीण अस्पताल में मौसम में बदलाव व बरसात के चलते सर्दी, खांसी, कफ, खराश, पेट दर्द, लूज मोशन,दस्त जैसी बीमारियों से पीड़ित मरीजो की संख्या अधिक है. जिसका उपचार गोरेगांव आर.एच. मे किया जा रहा है. साथ ही बाहर से आने वाले व्यक्तियों के स्वास्थ्य की जांच नियमित रूप से की जा रही है. इसमें अब तक सैकड़ों संदिग्ध व्यक्तियों की टेस्टिंग की गई है, इस महामारी से बचने के लिए उन्होंने नागरिकों से साफ-सफाई, सोशल डिस्टेंसिंग रखने की अपील की है.