voting
File Photo

  • महाविकास आघाड़ी व भाजपा की प्रतिष्ठा दांव पर

गोंदिया. महाराष्ट्र विधान परिषद के नागपुर स्नातक निर्वाचन क्षेत्र का चुनाव प्रचार थम गया. रविवार को प्रचार का अंतिम दिन होने से सभी उम्मीदवार व कार्यकर्ताओं ने शक्ति प्रदर्शन किया. जिले में पिछले कुछ दिनों से राजनीतिक पार्टियों व निर्दलीय उम्मीदवारों ने सम्मेलन, बैठक व चर्चाओं के माध्यम से प्रचार किया. चुनाव में उम्मीदवार व कार्यकर्ताओं ने सामजिक माध्यमों के प्रचार पर जोर दिया. महाविकास आघाड़ी की सरकार सत्ता में आने के वर्ष भर बाद यह पहला चुनाव है. जिससे महाविकास आघाड़ी के लिए चुनाव प्रतिष्ठा का हो गया है.

वहीं भाजपा व उसके समर्थक दलों के लिए नागपुर निर्वाचन क्षेत्र में कब्जा बरकरार रखने की चुनौती है. महाविकास आघाड़ी की ओर से सांसद प्रफुल पटेल, विधानसभा अध्यक्ष नाना पटोले, शिवसेना प्रमुख मुकेश शिवहरे व अन्य नेताओं ने सभाओं का आयोजन कर प्रचार किया. वहीं भाजपा उम्मीदवार के प्रचारार्थ सांसद सुनील मेंढे, पूर्व उर्जा मंत्री चंद्रशेखर बावनकुले व विधायक विजय रहांगडाले ने जगह जगह सभाएं ली.

2.6 लाख मतदाता करेंगे मतदान

कोरोना संक्रमण के बीच होने वाले इस चुनाव को लेकर प्रशासन सतर्क है. शासन द्वारा जारी की गई सूचना व दिशा निर्देशों का पूर्णत: पालन होने की बात प्रशासन ने कही है. 1 दिसंबर को होने वाले स्नातक निर्वाचन क्षेत्र के चुनाव में लगभग 2 लाख 6 हजार मतदाता अपने मतदान क प्रयोग करेंगे. इसके लिए 322 मतदान केंद्र बनाए गए है. गोंदिया जिले में 25 मतदान केंद्रों पर 16 हजार 934 मतदाता मतदान करेंगे. चुनाव में कुल 19 उम्मीदवार अपनी किस्मत आजमा रहे है.