How is Brinjal beneficial and harmful

-सीमा कुमारी

जब बात बैंगन की हो तो इसको काफी लोग पसंद करते है. बैगन भारत की एक लोकप्रिय सब्जी है. इसे अंग्रेज़ी में ब्रिंजल कहते है. प्राचीन काल से भारत में इसकी खेती होती आ रही है।  विश्व में चीन के बाद भारत बैंगन की दूसरी सबसे अधिक पैदावार वाले देश हैं. बैगन गोल, अंडाकार, या सेव आकार का और लंबा तथा बड़े से बड़ा फुटबाल गेंद सा हो सकता है. यह लंबाई में एक फुट तक का हो सकता है. सर्दियों में बैगन खाने के अपने ही फायदे हैं क्योंकि बैगन में कुछ ऐसे लाभदायक पोषक तत्व होते हैं जो बाकी की अन्य सब्जियों में नहीं पाए जाते हैं. चलिए जानते हैं इसके फायदे और नुकसान.

बैगन किस तरह से लाभदायक है:

  • बैंगन खाना गर्भावस्था के लिए अच्छा माना जाता है क्योंकि यह गर्भवती महिला की स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं को दूर रखता है. क्योंकि बैंगन में विटामिन ‘सी’ प्रचुर मात्रा में पाया जाता है, जो विभिन्न रोगों से बचने के लिए शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए जाना जाता है.
  • गर्भावस्था के दौरान महिला को बैगन खाना फायदेमंद होता है क्योंकि बैगन फोलेट का अच्छा स्रोत है. गर्भावस्था के दौरान महिला को होने वाले सिर दर्द, तनाव व चिंता के साथ-साथ फोलेट भ्रूण के विकास के लिए लाभकारी माना जाता है. यह लाल रक्त कोशिकाओं के विकास में भी मदद करता है. इस कारण इसके संयुक्त प्रभाव एक जन्म दोष के जोखिमों को कम करने में भी सक्षम है.
  • बैंगन का उपयोग पाचन प्रक्रिया को सुधारने में सहायक साबित होता है. इस संबंध में कई खाद्य पदार्थों पर किए गए एक शोध में पाया गया कि स्टीम कुकिंग से बना बैंगन पाचक रसों को प्रेरित करने का काम करता है. जोकि पाचक रस भोजन को पचाने में अहम भूमिका निभाते हैं.
  • बैंगन में विटामिन ‘ए’, विटामिन ‘ई’, ‘बी’ कॉम्प्लेक्स और नियासिन पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है. पोषण से भरपूर ये सभी स्रोत भ्रूण के उचित विकास में मदद करते हैं.
  • बैगन खाने से रक्त में अच्छे कोलेस्ट्रॉल की बढ़ोतरी होती है. साथ ही साथ गर्भावस्था में बैंगन का सेवन हानिकारक कोलेस्ट्रॉल के लेवल को कम करने में मदद करती है.

बैगन के नुकसान:

  • जो लोग डिप्रेशन की दवा लें रहे है, उन लोगों को बैगन का सेवन नहीं करना चाहिए. क्योंकि बैगन के सेवन से आपके शरीर पर दवा का असर कम होने लगता है.
  • गर्भवती महिलाओं को बैंगन का सेवन अधिक मात्रा में न करने की सलाह दी जाती है. क्योंकि गर्भवती महिलाओं में एसिडिटी के उच्च स्तर को प्रेरित करने के लिए जाना जाता है, जिससे उन्हें चिंता और असुविधा हो सकती है.
  • यदि किसी को एलर्जी की समस्या है तो वो लोग बैगन नहीं खाये. नहीं तो पूरे शरीर में एलर्जी फैल सकती है.
  • बैगन अत्यधिक मात्रा में सेवन करने से पेट में जलन की समस्या पैदा कर सकता है. यह पाचक रस की मात्रा को बढ़ाने का काम करता है, जिस कारण पेट में जलन होती है.