PAPPU-YADAV

    पटना. एक बड़ी खबर के अनुसार जन अधिकार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व सांसद पप्पू यादव (Pappu Yadav) को आज गिरफ्तार कर लिया गया है। यही नहीं यह यह आरोप खुद पप्पू यादव ने ट्वीट करके लगाया। इस मुद्दे पर उनका कहना है कि, “मुझे गिरफ्तार कर पटना के गांधी मैदान थाना ले आया गया है।”

    दरअसल बीते दिनों ही पप्पू यादव ने बीजेपी सांसद राजीव प्रताप रूडी के एंबुलेंस को लेकर बड़ा अहम सवाल उठाया था। अब इस मुडी पर पूर्व सांसद पप्पू यादव ने एक और ट्वीट करके कहा कि, ‘कोरोना काल में जिंदगियां बचाने के लिए अपनी जान हथेली पर रख जूझना अपराध है, तो हां मैं अपराधी हूं, PM साहब, CM साहब, दे दो फांसी, या, भेज दो जेल, झुकूंगा नहीं, रुकूंगा नहीं, लोगों को बचाऊंगा, बेईमानों को बेनकाब करता रहूंगा!’

    लॉकडाउन उल्लंघन के आरोप में पप्पू यादव हुए आज गिरफ्तार :

    वहीं कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार पूर्व सांसद पप्पू यादव को लॉकडाउन उल्लंघन करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। बताया जा रहा है कि बीजेपी सांसद राजीव प्रताप रुडी के सांसद निधि से खरीदी गई एंबुलेंस की पोल खुलने के बाद सारण के अमनौर में पप्पू यादव के खिलाफ लॉकडाउन उल्लंघन का केस दर्ज कर लिया गया था।

    इतना ही नहीं पप्पू यादव पर अमनौर के अंचलाधिकारी ने लॉकडाउन उल्लंघन के मामले में रविवार को अमनौर थाना में FIR दर्ज कराई थी। शिकायत में पप्पू यादव पर विश्वप्रभा सामुदायिक केंद्र में काफिले के साथ पहुंचकर लॉकडाउन का उल्लंघन का बड़ा आरोप लगाया गया था। इससे पहले भी बीते शनिवार को पप्पू यादव पर एंबुलेंस में तोड़फोड़ के आरोप में एक केस दर्ज किया गया था।

    क्या थी घटना:

    दरअसल पिछले दिनों ही पप्पू यादव ने सारण जिला के अमनौर में स्थापित विश्व प्रभा सामुदायिक केंद्र के भवन में पहुंचकर वहां मौजूद MPLAD से खरीदी गई दर्जनों एम्बुलेन्स को जनता को समर्पित नहीं करने पर बड़ा सवाल उठाये थे। उन्होंने सारण के भाजपा सांसद राजीव प्रताप रूडी की राजनितिक मंशा पर भी सवाल उठाया था।

    इसके बाद बीजेपी सांसद राजीव प्रताप रूडी ने भी पलटवार करते जुए कहा था कि ड्राइवर न होने की वजह से इन एंबुलेंस का संचालन नहीं हो पाया था, अगर पप्पू यादव ड्राइवर की व्यवस्था करते हैं तो वे जरुर इसका संचालन शुरू कर देंगे। इसके अगले ही दिन पप्पू यादव ने बाकायदा एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए अपनी तरफ से 40 ड्राइवरों को पेश किया था और कहा कि ये सभी लोग इन संही खड़ी एंबुलेंस को चलाने के लिए तैयार हैं।