UDHHAV-BJP

    नयी दिल्ली. देश में एक तरफ जहाँ कोरोना वायरस (Corona Virus) का संकट भारत में एक बार फिर बढ़ता हुआ सा दिख रहा है। वहीं देश में अब सबसे अधिक नए मामले महाराष्ट्र (Maharashtra) से ही आते दिख रहे हैं। इन सबके बीच अब केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर (Prakash Javadekar) ने महाराष्ट्र की उद्धव सरकार (Uddhav Goverment) पर एक बड़ा आरोप लगाया है। जी हाँ अब प्रकाश जावड़ेकर का कहना है कि महाराष्ट्र राज्य में अब तक 56% वैक्सीन का इस्तेमाल ही नहीं हुआ है।

    इस मुद्दे पर केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने आज यानी बुधवार को ट्वीट कर लिखा कि, महाराष्ट्र ने अबतक सिर्फ 23 लाख वैक्सीन का इस्तेमाल किया है, जबकि केंद्र द्वारा कुल 54 लाख वैक्सीन दी गई हैं। यानी 56% वैक्सीन का इस्तेमाल नहीं हुआ है।

    यही नहीं प्रकाश जावड़ेकर ने यह भी आरोप लगाया कि शिवसेना के सांसद और उद्धव सरकार फिर भी राज्य के लिए अतिरिक्त वैक्सीन मांग रहे हैं। पहले कोरोना महामारी के दौरान महाराष्ट्र में मिस-मैनेजमेंट हुआ है और अब वैक्सीनेशन के दौरान भी यह लोग ऐसा ही कर रहे हैं, ऐसा जावड़ेकर ने कहा।गौरतलब है कि केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर का ये ट्वीट तब आया है, जब आज ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ फिर से मंथन कर रहे हैं।

    विदित हो की महाराष्ट्र राज्य में कोरोना अब जबरदस्त रफ़्तार से अपने पाँव पसार रहा है। पिछले 24 घंटे में राज्य के अंदर 17 हजार से अधिक नए मामले सामने आए हैं। यह लगातार पांचवा दिन है जब कोरोना के 15 हजार से अधिक मामले सामने आए है। इस बात की जानकारी मंगलवार को स्वास्थ्य विभाग ने दी है।

    स्वास्थ्य विभाग के अनुसार सोमवार को राज्य में 17,864 नए मामले सामने आए हैं, जिसके बाद संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 23,47,328 हो गई है। वहीं पिछले 24 घंटे में कोरोना से 87 लोगों की मौत हुई है। राज्य में कोरोना से मरने वालों की संख्या 52,996 पर पहुंची गई है।

    बता दें कि फरवरी महीने में कोरोना के मामलों में अचानक तेज उछाल आया। जिसके बाद से कोरोना के मामले लगातार तेजी बढ़ रहे हैं। पिछले चार दिनों के आंकड़े देखे तो राज्य में शुक्रवार को 15,817, शनिवार को 15,062, रविवार को 16,620 और सोमवार को 15,051 नए मामले सामने आए हैं। फिलहाल राज्य में 1,38,813 मरीजों का इलाज चल रहा है। वहीं अब तक 21,54,253 मरीज ठीक हो चुके हैं।