Corona
Representative Image

    मुंबई: महाराष्ट्र (Maharashtra) इस समय बुरी तरह कोरोना वायरस (Corona Virus) से प्रभावित है। महाराष्ट्र में सख्त पाबंदियों के बावजूद रोज़ाना कोरोना वायरस के हज़ारों मामले सामने आ रहे हैं। राज्य के कई हिस्सों में कोरोना के मामले बढ़ते जा रहे हैं। ऐसे में मुंबई (Mumbai) में कोरोना वायरस का कहर बढ़ता जा रहा है। बुधवार को प्रशासन द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार, शहर में पिछले 24 घंटों में 54 लोगों की कोरोना की चपेट में आने से मौत हो गई है। वहीं मुंबई में पिछले 24 घंटों में 9,925 नए कोरोना मामले सामने आए हैं। हालांकि बुधवार को 9,273 लोगों को अस्पतालों से छुट्टी भी मिली है।

    वैसे, महाराष्ट्र में लगातार बढ़ते कोरोना मामलों के मद्देनज़र राज्य के सीएम उद्धव ठाकरे ने सख्ती और भी कड़ी करने का एलान किया है। अगले 15 दिनों के लिए नई पाबंदियां लागू करने का ऐलान कर दिया है। राज्य के सीएम उद्धव ठाकरे ने मंगलवार शाम जनता को संबोधित करते हुए कहा है कि, अगले 15 दिनों तक सभी जरुरी सेवाओं को छोड़कर बाकी अन्य सेवाओं पर रोक लगाई गई है। सीएम ठाकरे ने कहा है कि, महाराष्ट्र में धारा 144 लागू रहेगी। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि राज्य में ऑक्सीजन की किल्लत है इसलिए केंद्र सरकार सड़क के रास्तों सहित हवाई मार्ग से महाराष्ट्र में ऑक्सीजन भेजने का काम करे। 

     वहीं महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने बुधवार को कहा कि, राज्य में मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए पड़ोसी राज्यों से संपर्क किया गया है लेकिन उन्होंने भी भारी मांग के कारण ऑक्सीजन देने से मना कर दिया है। टोपे ने कहा कि महाराष्ट्र को मेडिकल ऑक्सीजन की बर्बादी को रोकना होगा क्योंकि इस समय इसकी अत्यधिक मांग है। कोविड-19 के मरीजों और श्वास संबंधी अन्य रोगों के उपचार के लिए मेडिकल ग्रेड ऑक्सीजन का इस्तेमाल किया जाता है।

    टोपे ने कहा, “हमने छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और गुजरात जैसे पड़ोसी राज्यों से मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए संपर्क किया लेकिन उनके यहां बढ़ती हुई मांग के चलते उन राज्यों ने ऑक्सीजन देने से मना कर दिया।”

    बता दें कि, महाराष्ट्र में मंगलवार को कोरोना के 60 हजार 212 नए मामले सामने आए हैं। जबकि 281 की मौत हुई है। राज्य में कोरोना संक्रमितो की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है।