The responsibility entrusted to the central team to take stock of the damage caused by the storm 'Yas' in West Bengal
File

    कोलकाता: चक्रवाती तूफान (Cyclone) यास (YAAS) के कारण हुए नुकसान का जायजा लेने के लिए सात सदस्यीय केन्द्रीय दल रविवार को तीन दिवसीय दौरे पर पश्चिम बंगाल (West Bengal) पहुंचेगा। एक वरिष्ठ अधिकारी ने शनिवार को यह जानकारी दी। केन्द्रीय गृह मंत्रालय में संयुक्त सचिव एस के शाही के नेतृत्व वाला अंतरमंत्रालयी दल रविवार को सबसे पहले दक्षिण 24 परगना जिले में पहुंचकर तूफान के कारण हुए नुकसान का जायजा लेगा। उसके बाद अगले दिन वह पूर्ब मेदिनीपुर जाएगा।

    अधिकारी के मुताबिक केन्द्रीय दल तीन दिनों तक तूफान प्रभावित इलाकों का दौरा कर नुकसान का आकलन करेगा और उसके बाद नौ जून को दिल्ली लौट सकता है। उन्होंने कहा कि रविवार सुबह बंगाल पहुंचने के बाद केन्द्रीय दल सीधे दक्षिण 24 परगना जिले में पहुंचकर वहां तूफान प्रभावित इलाकों का दौरा करेगा। वहां अधिकारियों के साथ एक बैठक भी होगी।

    वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘‘सोमवार को केन्द्रीय दल पूर्ब मेदिनीपुर में दीघा और मंदारमणि का दौरा करेगा, जहां अधिकारी चक्रवात यास के कारण हुए नुकसान को लेकर एक प्रस्तुति देंगे।” सरकारी सूत्रों के अनुसार, अंतर-मंत्रालयी दल अपने तीन दिवसीय दौरे के दौरान राज्य के वित्त विभाग के अधिकारियों के साथ एक बैठक भी कर सकता है। गौरतलब है कि चक्रवाती तूफान यास ने 26 मई को ओडिशा और बंगाल के तटीय इलाकों में भारी तबाही मचाई थी।