केंद्रीय कर्मचारियों का DA, 17% की जगह 28% होगा, इतनी बढ़ेगी सैलरी

    नई दिल्ली. 7th Pay Commission Latest News Updates: आखिरकार केंद्रीय कर्मचारियों का लंबे समय का इंतजार ख़त्म हो गया है। केंद्रीय कर्मचारियों का सातवें वेतन आयोग (7th Pay Commission) के तहत 1 जनवरी 2021 से रुके महंगाई भत्ते (DA) में बढ़ोतरी का ऐलान किया गया है। 50 लाख कर्मचारियों (Central Govt Employees) और 61 लाख पेंशनर्स का महंगाई भत्ता 1 जुलाई से बढ़ने जा रहा है। कर्मचारियों का महंगाई भत्ता अभी 17 परसेंट की दर से मिलता है जो अब सीधे 28 परसेंट बढ़ेगा। इस बढ़ोतरी का फायदा उन्हें सैलरी में इजाफे के रूप में होगा। 

    अटकी हुई तीनों किस्तें मिलेगी 

    साथ ही कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर ये भी है कि उन्हें उनकी अटकी हुई तीन किस्तें भी चुकाई जाएंगी। केंद्रीय कर्मचारियों कों अभी 17 परसेंट की दर से DA का भुगतान होता है, जब ये 11 परसेंट बढ़कर 28 परसेंट हो जाएगा तो जाहिर तौर पर कर्मचारियों की सैलरी में जबरदस्त इजाफा होगा। कर्मचारियों को सीधे दो साल के DA का फायदा एकसाथ मिलने वाला है। क्योंकि जनवरी 2020 में केंद्रीय कर्मचारियों का महंगाई भत्ता 4 परसेंट बढ़ा था, फिर दूसरी छमाही यानी जून 2020 में 3 परसें की बढ़ोतरी हुई थी, अब जनवरी 2021 में महंगाई भत्ता एक बार फिर 4 परसेंट बढ़ा है। यानी कुल 28 परसेंट हो गया है। हालांकि, इन तीनों ही किस्तों का भुगतान अभी नहीं हुआ है।

    कर्मचारियों को DA एरियर को लेकर मीटिंग का इंतजार 

    केंद्रीय कर्मचारियों को महंगाई भत्ते (DA) के एरियर को लेकर मीटिंग का  बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। बता दें कि , यह बातचीत  केंद्र सरकार के कर्मचारियों (CGS) की अगुवाई करने वाली नेशनल काउंसिल ऑफ JCM और वित्त मंत्रालय और मिनिस्ट्री ऑफ फाइनेंस एंड डिपार्टमेंट ऑफ पर्सनल एंड ट्रेनिंग के केंद्र सरकार के अधिकारियों के बीच होगी। नेशनल काउंसिल-JCM के अनुसार ये मीटिंग पिछले महीने निर्धारित की गई थी, लेकिन अब इसी महीने यानी जून में होने की उम्मीद जताई जा रही है।  

    इस फॉर्मूले से बढ़ेगी सैलरी

    केंद्रीय कर्मचारियों का के पे-मैट्रिक्स के हिसाब से न्यूनतम सैलरी 18000 रुपए है इसमें 15 परसेंट महंगाई भत्ता जुड़ने की उम्मीद जताई जा रही है। जिससे  2700 रुपए महीना सैलरी में जुड़ जाएगा। सालाना आधार पर अगर देखें तो कुल महंगाई भत्ता 32400 रुपए बढ़ जाएगा। अभी अगर किसी कर्मचारी का न्यूनतम मूल वेतन पे मैट्रिक्स के मुताबिक 18,000 रुपए है, उसका वेतन हुआ 18,000 x 2.57 = 46,260 रुपए। ये वेतन अभी बिना भत्तों का है। इस वेतन में अब महंगाई भत्ता (DA), यात्रा भत्ता (TA), मेडिकल कंपनसेशन और HRA जैसे भत्तों को भी जोड़ा जाएगा इसके बाद फाइनल सैलरी तय होगी।