gaziabad

     गाजियाबाद. जहाँ एक तरफ मोदी सरकार (Narendra Modi Goverment) द्वारा लाये गए विवादस्पद कृषि कानूनों (Farm Laws) को लेकर कई किसान बीते 7 महीनों से दिल्ली बॉर्डर (Delhi Border) पर लामबंद हैं। वहीं अब आज इसी क्रम में UP गेट पर प्रदर्शन कर रहे किसानों (Framers) की झड़प BJP समर्थकों से हो गई। दरअसल आज बुधवार सुबह UP गेट पर किसान आंदोलन स्थल के अंदर BJP कार्यकर्ता पहुंच गए जिसके बाद उनके और किसानों के बीच भयंकर मारपीट हो गई।

    इधर इस हंगामे की सूचना मिलते ही भारी संख्या में पुलिस बल मौके पर पहुंची है। वहीं खबर ये भी है कि इस घटना में BJP कार्यकर्ताओं की गाड़ी तोड़ी गई है। इस घटना के बाद फिलहाल गाजियाबाद SSP कार्यालय पर भाजपाइयों ने जाम लगा दिया है। यह भी कहा जा रहा है कि किसानों द्वारा भाजपाइयों की गाड़ी में तोड़फोड़ करने के विरोध में ये एक व्यापक जाम लगाया गया है।

    क्या है मामला :

    दरअसल BJP के नवनियुक्त प्रदेशमंत्री अमित वाल्मीकि का स्वागत करने के लिए कुछ कार्यकर्ता दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे पर खड़े थे। इस परे दिल्ली से गाजियाबाद वाली लेन पर वाहनों का काफिला जब किसानों के मंच के सामने पहुंचा तो किसानों और भाजपाइयों में तीखी नोकझोंक हो गई। इस मुद्दे पर किसानों का आरोप है कि भाजपाइयों ने उन्हें कड़े अपशब्द कहे, जबकि उधर भाजपाइयों का आरोप है कि किसानों ने उनके साथ अभद्रता की है। साथ ही BJP वालों का यह भी आरोप है कि किसानों ने उनके खिलाफ नारेबाजी की और कुछ गाड़ियों में भयंकर तोड़ फोड़ की। अब इस मुद्दे पर BKU की तरफ से भी पुलिस को शिकायत दी गयी है।

    BKU (भारतीय किसान यूनियन) के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि BJP के कार्यकर्ता मंच पर कब्जा करना चाहते थे। यह लोग यहां बीते कई दिनों से यहाँ आ रहे हैं और यहाँ का माहौल खराब करने की कोशिश कर रहे हैं। इसके साथ ही राकेश टिकैत ने कड़े लहजे में कहा कि BJP के किसी भी कार्यकर्ता को प्रदेश में नहीं जाने दिया जाएगा। अब गांवों में भी BJP के झंडे लगी गाड़ियों को नहीं चलने दिया जाएगा। इसके साथ ही राकेश टिकैत काकहना था कि यदि किसानों का मंच BJP वालों को इतना ही पसंद है तो पार्टी को छोड़ कर हमारे  साथ आ जाएं, किसान संगठन उनका यथेष्ट स्वागत करेंगे। इसके साथ ही टिकैत ने हंगामा और मारपीट करने वाले आरोपियों की तुरंत गिरफ्तारी की मांग रखी है।