India-China border deadlock: plan to start construction of Ram temple in Ayodhya suspended
Representational Pic

अयोध्या. भारत एवं चीन की सीमा पर गतिरोध के बीच राम मंदिर न्यास ने अयोध्या में मंदिर का निर्माण कार्य आरंभ करने की योजना निलंबित कर दी है। पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी बलों के साथ झड़प में 20 भारतीय जवानों के शहीद हो जाने की घटना के कुछ दिन बाद यह फैसला किया गया है।

उच्चतम न्यायालय के पिछले साल के ऐतिहासिक फैसले के बाद मंदिर निर्माण का कार्य न्यास को सौंपा गया था। न्यास ने भारतीय जवानों के शहीद होने पर चिंता जताते हुए कहा कि नई तिथि के संबंध में जल्द फैसला किया जाएगा। न्यास के सदस्य अनिल मिश्रा ने ‘पीटीआई भाषा’ से कहा, ‘‘देश में हालात के अनुसार (मंदिर का) निर्माण शुरू करने का फैसला किया जाएगा और इसकी आधिकारिक घोषणा की जाएगी।”

न्यास ने एक आधिकारिक विज्ञप्ति में कहा कि भारत और चीन की सीमा पर स्थिति ‘‘गंभीर” है और देश की रक्षा ‘‘सबसे महत्वपूर्ण” है। न्यास ने शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि भी दी। इस बीच, विभिन्न हिंदू संगठनों ने अयोध्या में चीन के खिलाफ प्रदर्शन किए। हिंदू महासभा के कार्यकर्ताओं ने चीनी झंडा जलाया और विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ताओं ने चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग का पुतला फूंका एवं चीनी उत्पाद नष्ट कर विरोध जताया।