देश के 5 भूतिया रेलवे स्टेशन, जहा शाम ढलते ही फैल जाता है सन्नाटा

    भारत में ऐसे कई स्थान है जिसे ‘भूतिया’ कहा जाता है। देश में कई लोग वैज्ञानिक दृष्टिकोण से इस बात पर विश्वास नहीं करते। पर आज भी लाखों लोग ऐसे हैं जिनका मानना है कि भूत इसी धरती पर हमारे साथ निवास करते हैं। आज हम आपको देश के कुछ खास रेलवे स्टेशनों के बारे में बताने जा रहे हैं  जिनके बारे में कहा जाता है कि वे रेलवे स्टेशन भूतिया हैं। (India Most Haunted Railway Stations) कुछ लोगों का दावा है कि उन्होंने भूत देखा या पैरानॉर्मल एक्टिविटी को महसूस किया है। ऐसे में इन स्टेशनों पर शाम होते ही सन्नाटा पसर जाता है। 

    मुलुंड स्टेशन

    मुंबई में स्थित मुलुंड स्टेशन Mulund Railway Station देश की चुनिंदा भूतिया रेलवे स्टेशनों में गिना जाता है। यहां के स्थानीय लोगों का दवा है कि, शाम के बाद इस स्टेशन से लोगों के चिल्लाने और रोने की आवाजें सुनाई देती है। उनका मानना है कि ये उन लोगों की आवाजें हैं जो लोग रेलवे स्टेशन पर किसी घटना का शिकार हुए हैं। 

    चित्तूर रेलवे

    आंध्र प्रदेश के चित्तूर जिले में स्थित चित्तूर रेलवे स्टेशन (Chittoor Railway Station) भी भूतिया माना जाता है। यहां के लोगों के अनुसार इस स्टेशन पर एक CRPF का जवान हरी सिंह इस स्टेशन पर उतरा था, तभी उसकी किसी बात को लेकर RPF और TTE से बहस हो गई। उन्होंने हरी सिंह को इतना मारा की उसकी मौत हो गई। लोगों का कहना है कि तब से इंसाफ पाने के लिए उसकी आत्मा इसी स्टेशन पर भटकती है। 

    नैनी जंक्शन रेलवे स्टेशन 

    उत्तर प्रदेश के प्रयागराज जिले में स्थित नैनी जंक्शन रेलवे स्टेशन (Naini Junction Railway Station) भी भूतिया श्रेणी में आता है। इस स्टेशन के पास में नैनी जेल स्थित है। कहते हैं कि इस जेल में देश के स्वाधीनता संग्राम में भाग लेने वाले कई सेनानी कैद थे। यहां उन्हें ब्रिटिश हुकूमत द्वारा कई यातनाएं दी जाती थीं। जिसके चलते कई लोगों की मौत हो गई। कहा जाता है कि तब से इस रेलवे स्टेशन पर उन स्वतंत्रता सेनानियों की आत्मा घूमती रहती है। 

    बेगुनकोदर रेलवे स्टेशन

    पश्चिम बंगाल के पुरुलिया जिले में एक बेगुनकोदर रेलवे स्टेशन (Begunkodar Railway Station) भूतों के किस्से के लिए बहुत चर्चित है। लोगों के अनुसार कई  यात्रियों ने सफेद साड़ी पहनी एक महिला के भूत को देखा है। साथ ही इस स्टेशन की कई  कहानियां है। माना जाता है कि, इस स्टेशन से ट्रेनें तो गुजरती हैं पर रूकती नहीं है। रेलवे ने 42 सालों तक के लिए बंद किया गया था जो अंतत साल 2009 में दोबारा खोला गया। 

    बड़ोग रेलवे स्टेशन

    हिमाचल प्रदेश अपनी सुंदरता के लिए जाना जाता है, अफवाहें के अनुसार बड़ोग रेलवे स्टेशन (Barog Railway Station) पर भूतों का डेरा है।  इस रेलवे स्टेशन के बगल में ही एक सुरंग है। जिसे बड़ोग सुरंग कहा जाता है। लोग कहते हैं कि इस सुरंग के निर्माण एक ब्रिटिश इंजीनियर कर्नल बड़ोग ने कराया था जिसने बाद में आत्महत्यार कर ली।  यहा के लोग दावा करते हैं कि इस सुरंग में उसी ब्रिटिश अधिकारी की आत्मा घूमती है जिसे लोग देखने का दावा भी करते हैं।  

    हम किसी भी भूतिया या अंधविश्वास का समर्थन नहीं करता है।  यह खबर केवल लोगों द्वारा किए गए दावों और प्रचलित कहानियों के आधार पर तैयार किया गया है