Maharashtra Corona Updates: Corona-free village competition is being held in Maharashtra, the government is giving a reward of 50 lakh rupees, know the whole matter
Representative Image

    मुंबई: देश में उठी कोरोना (Corona Virus) की दूसरी लहर में बुरी तरह प्रभावित महाराष्ट्र (Maharashtra) में अब धीरे-धीरे कोविड केस कम हो रहे हैं। लेकिन अब भी राज्य के ग्रामीण इलाकों (Rural Areas) में चिंता बनी हुई है। हालांकि देश में कोरोना की पहली लहर के दौरान ग्रामीण इलाके कोरोना की चपेट में न के बराबर आए थे लेकिन इस दूसरी लहर में कई गांव भी कोरोना की चपेट में आ चुके हैं। ग्रामीण इलाकों को कोरोना से बचाने के लिए  महाराष्ट्र सरकार ग्रामीण इलाकों को वायरस से दूर रखने के लिए एक अनूठा प्रस्ताव लेकर आई है। 

    ग्रामीण विकास मंत्री हसन मुशरीफ ने कहा है कि, कोरोना रोकने के लिए महाराष्ट्र के गांवों में प्रतियोगिता कराए जाने की सरकार तैयारी कर रही है। इस प्रतियोगिता में महाराष्ट्र के उन गांव को कैश प्राइज़ दिया जाएगा जो कोरोना से अपने गांव को बचाने के लिए  कदम उठाएंगे। मुशरीफ  ने कहा है कि, “कोविड के प्रसार को रोकने के लिए महाराष्ट्र में कोरोना मुक्त ग्राम प्रतियोगिताएं आयोजित की जाएंगी। प्रत्येक राजस्व संभाग में कोविड-19 प्रबंधन में अच्छा कार्य करने पर तीन ग्राम पंचायतों को पुरस्कृत किया जाएगा। इसमें पहला पुरस्कार 50 लाख रुपये, दूसरा 25 लाख रुपये और तीसरा 15 लाख रुपये होगा।” 

    बता दें कि, महाराष्ट्र के करीब 5 छोटे गांवों को स्वतंत्र रूप से कोरोना-मुक्त गांव का दर्जा मिलने के बाद सरकार ने ये अनोखा फैसला लिया है। हसन मुशरीफ ने कहा कि, अगर गांव कोरोना-मुक्त हो जाते हैं तो आम लोगों की भागीदारी से तालुकों, जिलों, क्षेत्रों और पूरे राज्य को इस संकट से छुटकारा मिल सकता है।

     मुशरिफ ने कहा कि, विशेषज्ञों की एक विशेष समिति द्वारा 22 अलग-अलग मानदंडों के आधार पर गांवों का मूल्यांकन किया जाएगा। उन्होंने सभी गांवों से अपने क्षेत्रों को ‘कोविड-मुक्त’ बनाने के लिए प्रतियोगिता में भाग लेने की अपील भी की है। 

    वैसे महाराष्ट्र में कोरोना के मामले कम होते दिखाई पड़ रहे हैं। राज्य की उद्धव सरकार द्वारा लिए गए फैसलों का असर अब दिखने लगा है। राज्य में पिछले 24 घंटे की बात करें तो कोरोना के 15,169 नए मामले सामने आए हैं। जबकि 285 लोगों की जान गई है। ये आंकड़े पिछले दिनों के मुकाबले काफी कम है।