Muslims silently approve the Bhoomi Poojan of the temple with goodwill, peace: Muslim National Forum

भोपाल. राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के सहयोगी संगठन मुस्लिम राष्ट्रीय मंच (एमआरएम) ने कहा है कि अयोध्या में रामजन्म भूमि पर मंदिर के भूमिपूजन के ऐतिहासिक दिन का हम स्वागत करते हैं और पूरे देश में मुसलमानों ने सद्भावना और शांति इसे स्वीकृति दी है। मंच के राष्ट्रीय संयोजक एसके मुद्दीन ने बृहस्पतिवार को कहा, ‘‘अयोध्या में मर्यादा पुरुषोत्तम राम के जन्म स्थान पर बनने जा रहे भव्य मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन होना हमारे लिए ऐतिहासिक दिन है। हम ऐसे पल के साक्षी बने हैं, जिसे न तो हमारे पूर्वजों ने देखा और न ही हमारी आने वाली नस्लें, पीढ़ी देख पायेंगी।”

पूर्व सांसद एवं ‘पिछड़ा वर्ग और अल्पसंख्यक वित्त और विकास निगम’ के उपाध्यक्ष एस के मुद्दीन ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘ हमारे करोड़ों हिन्दू भाइयों की आस्था के केंद्र मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम के मंदिर निर्माण के पक्ष में उच्चतम न्यायालय के फैसले के बाद पूरे देश में शांति और सद्भाव का नज़ारा देखने को मिला था। उससे यह बात स्पष्ट हो गई गई थी कि मंदिर निर्माण के फैसले पर पूरे देश के मुसलमानों ने अपनी मौन स्वीकृति दी। इस ऐतिहासिक दिन का हम स्वागत करते हैं।”

उन्होंने कहा, ‘‘इस्लाम धर्मावलंबी होने के कारण श्री राम की पूजा तो नहीं कर सकते परन्तु हम तहे दिल से महापुरुष मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम का आदर सम्मान करते हैं और करोड़ों हिन्दू भाइयों को इस खुशी के अवसर पर सादर शुभकामनायें देते हैं।” उन्होंने कहा कि सर्वशक्तिमान ईश्वर को विभिन्न धर्मों के लोगों द्वारा अलग-अलग नामों से संबोधित किया जाता है।(एजेंसी)