Nitish Kumar shares the sustainable development efforts of the state on climate change in the UN
File

नई दिल्ली. बिहार में सत्तारूढ़ भाजपा नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के नेताओं ने कहा कि कृषि विधेयकों के राज्यसभा में पारित होने के दौरान उपसभापति हरिवंश के साथ विपक्ष के बर्ताव ने बिहार की प्रतिष्ठा को ‘‘चोट” पहुंचायी है और राज्य के लोग इसका जवाब देंगे। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि राज्यसभा में रविवार को जो कुछ भी हुआ वह बहुत गलत और निंदनीय है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा कई परियोजनाओं का शिलान्यास और उद्घाटन के लिए ऑनलाइन आयोजित किए गए कार्यक्रम में नीतीश ने यह बयान दिया।

वहीं राज्य के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि बिहार के लोग इसका जवाब देंगे। बिहार में जल्द ही विधानसभा चुनाव होने वोले हैं। उन्होंने कहा कि हरिवंश बिहार और पूरे देश के एक सम्मानित व्यक्ति हैं और इस घटना ने राज्य की प्रतिष्ठा का चोट पहुंचायी है। विपक्ष के भारी हंगामे के बीच कृषि उपज व्यापार और वाणिज्य (संवर्द्धन और सुविधा) विधेयक-2020 और कृषक (सशक्तिकरण एवं संरक्षण) कीमत आश्वासन समझौता और कृषि सेवा पर करार विधेयक-2020 रविवार को राज्यसभा में पारित हो गए थे।

इस दौरान दो विधेयकों को पारित कराने पर जोर देने पर विपक्ष ने हंगामा शुरू कर दिया था। तृणमूल कांग्रेस सदस्यों के नेतृत्व में कुछ विपक्षी सदस्य आसन के बिल्कुल पास आ गए। राज्यसभा में रविवार को हुए हंगामे की गूंज सोमवार को भी सुनाई पड़ी और विपक्ष के आठ सदस्यों को सत्र के शेष समय के लिए निलंबित कर दिया गया।(एजेंसी)