भारीतय रेलवे: 14 अप्रैल के बाद के सफर के लिए आरक्षण नहीं थे बंद, मीडिया में रिपोर्ट गलत

नई दिल्ली, आज कोरोना के चलते समूचे देश में यातायात ठप्प है. वहीं भारतीय रेलवे भी इससे अछूती नहीं है. आपको बता दें कि इस लॉक डाउन के समय भारतीय रेलवे भी पूर्ण रूप से सेवाएँ बंद कर रखी है. वहीं आज

नई दिल्ली, आज कोरोना के चलते समूचे देश में यातायात ठप्प है. वहीं भारतीय रेलवे भी इससे अछूती नहीं है. आपको बता दें कि इस लॉक डाउन के समय भारतीय रेलवे भी पूर्ण रूप से सेवाएँ बंद कर रखी है. वहीं आज रेलवे मंत्रालय ने  यह एलान किया गया है कि रेलवे ने  14 अप्रैल के बाद की यात्रा के लिए आरक्षण कभी बंद नहीं किया था .

रेलवे मंत्रालय ने एक खबर में कहा गया है कि कुछ दिनों पहले कुछ मीडिया रिपोर्टों में दावा किया गया था कि लॉकडाउन के बाद कि अवधि में सफ़र के लिए रेलवे ने आरक्षण सुविधा शुरू कि है. मंत्रालय का कहना है कि ऐसा कुछ भी नहीं था और वह यह स्पष्ट करना चाहती है कि 14 अप्रैल के बाद की यात्रा के लिए आरक्षण कभी बंद नहीं किया गया था . यह भी कहा गया है कि रेलवे आरक्षण मात्र लॉकडाउन के समय,  24 मार्च से 14 अप्रैल के लिए ही बंद थी. मंत्रालय ने यह भी स्पष्ट किया कि जैसा आप जानते है कि एडवांस आरक्षण के लिए 120 दिनों का समय रहता है जिसका साफ़ मतलब है कि 15 अप्रैल के आरक्षण के लिए पहले से ही टिकेट खिड़कियाँ खुलीं हुई थी.

आपको बता दें कि कुछ मीडिया रिपोर्टों में  यह दावा किया गया था कि 14 अप्रैल के बाद के सफ़र के लिए भारतीय रेलवे ने आरक्षण व्यवस्था शुरू कर दी है . इसी पर आज  रेल मंत्रालय ने अपने स्पष्टीकरण दिया है.