Corona vaccine 320 doses stolen from a govt. hospital in Jaipur, Rajasthan
Representative Image

    नयी दिल्ली. भारत (India) के धुर विरोधी चीन (China) की एक और नापाक करतूत फिर फेल हो गयी है। जहाँ एक तरफ भारत (India) चीन (China) अभी अभी लद्दाख (Laddkh) मामले पर एक दुसरे से सहमत होते हुए और मामले का पटाक्षेप करने को तैयार हुआ है। लेकिन लगता है कि पड़ोसी देश चीन (China) अब भी अपनी हरकतों से पूरी तरह से बाज नहीं आ रहा है और अब उसकी एक और बड़ी साजिश सबके सामने आई है।

    इसी क्रम में अब ख़बरों के अनुसार दुनियाभर में कोरोना वायरस (Coronavirus) फैलाने के आरोपी चीन ने भारत में कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) बनाने वाली नामी सफल कंपनियों को अपने निशाने पर लेने की कोशिश की थी। गौरतलब है कि चीन सरकार के समर्थित हैकर्स ने सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया (Serum Institute of India) और भारत बायोटेक (Bharat Biotech) के IT इंफ्रास्ट्रक्चर और सप्लाई चेन (Supply Chain) को की नेस्तेनाबुत करने की नापाक कोशिश की थी।

    कंपनी के IT सिस्टम थे हैकर्स का निशाना:

    दरअसल साइबर इंटेलिजेंस फर्म सायफर्मा (Cyfirma) ने एक निजी न्यूज एजेंसी रॉयटर्स को बताया कि चीनी सरकार समर्थित हैकर्स ने अभी हाल के हफ्तों में ही दो बड़ी नामचीन भारतीय वैक्सीन निर्माताओं के IT सिस्टम को अपना निशाना बनाया था। गौरतलब है कि भारत और चीन दोनों ने अब तककई देशों को कोविड-19 वैक्सीन बेचे या गिफ्ट में दिए हैं। वहीं भारत ने अब तक दुनियाभर में बिकने वाले सभी जरुरी  टीकों का 60% से ज्यादा उत्पादन किया है।

    चीनी हैकिंग ग्रुप APT10 ने की थी नापाक कोशिश:

    वहीं सिंगापुर और टोक्यो में स्थित गोल्डमैन सैक से जुड़ी कंपनी सायफर्मा (Goldman Sachs-backed Cyfirma) के मुताबिक, चीनी हैकिंग ग्रुप APT10 ने भारत बायोटेक और सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) के IT इन्फ्रास्ट्रक्चर और सप्लाई चेन (Supply Chain) सॉफ्टवेयर की कुछ कमजोरियों की पहचान कर उन पर सेंध लगाने की कोशिश की थी। बता दें कि इस चीनी हैकिंग ग्रुप को स्टोन पांडा (Stone Panda) के कुख्यात नाम से भी विश्व में जाना जाता है।